बिना वजह Covid Care सेंटर पहुंचे भाजपा विधायक, होंगे 14 दिन के लिए क्वारंटीन

2020-08-03T14:46:11.867

नेशनल डेस्कः पश्चिमी त्रिपुरा के जिला अधिकारी एवं कलेक्टर डॉ संदीप महामते ने राज्य के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री एवं सत्तारूढ़ भाजपा के विधायक सुदीप रॉयबर्मन को 14 दिन क्वारंटाइन सेंटर में रहने को कहा है। दरअसल विधायक सुदीप रॉयबर्मन को शहीद भगत सिंह यूथ हॉस्टल कोविड केंद्र में लोगों को फल बांटने के बाद क्वारंटाइन केंद्र में भर्ती होने के लिए नोटिस भेजा है। जिला अधिकारी संदीप ने ज्ञापन में रॉयबर्मन से केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की अधिसूचना के अनुसार आरएसटीआई केंद्र में सात दिनों के लिए अनिवार्य भर्ती होने के लिए कहा है। इसके अलावा रॉयबर्मन पर Covid care सेंटर में गलत तरीके से घुसने पर कोविड सुरक्षा दिशा-निर्देशों का पालन नहीं करने का भी मामला दर्ज किया गया है।

 

रॉयबर्मन ने हालांकि जिला अधिकारी के आरोपों को खारिज करते हुए उन पर आरोप लगाया और कहा कि जिला अधिकारी ने दिशा-निर्देशों की गलत व्याख्या की है और अवैध रूप से आदेश दिया है। उन्होंने कहा कि मैंने सभी दिशा-निर्देशों और सुरक्षा मापदंडों का पालन किया है। वहां जाने से पहले मैंने संबंधित अधिकारियों को भी जानकारी दे दी थी। इसलिए इस नोटिस का कोई मतलब नहीं है और विधायक के रूप में मेरे पद का अनादर है। बता दें कि इससे पहले भी उनपर Covid -19 प्रोटोकॉल के उल्लंघन कर सरकारी आवास पर डिनर पार्टी करने का भी आरोप लगा था। विधायक पर आरोप है कि उनकी मेजबानी में आयोजित किए गए डिनर में करीब 80 लोग शामिल हुए थे। हालांकि पूर्व स्वास्थ्य मंत्री ने खुद पर लगे आरोपों से इनकार किया।

 

उन्होंने कहा कि आरोप बेबुनियाद हैं। उन्होंने कहा कि सुरक्षाकर्मियों के साथ-साथ लोगों की संख्या 20 से अधिक नहीं थी। इसके साथ ही सभी विधायक होस्टल से ही थे और कोई बाहर से नहीं आया था। देशभर में कोरोना के 18 लाख से ज्यादा मामले सामने आए हैं। देश में अब तक 38 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है। वहीं त्रिपुरा में भी कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। हाल ही राज्य में दो दिन के नवजात की कोरोना से मौत हो गई। बताया जाता कि है शिशु की मां कोरोना संक्रमित थी। इसके बाद शिशु की टेस्टिंग की गई तो उसे भी कोरोना की पुष्टि हुई। हालांकि इलाज के दौरान उसने दम तोड़ दिया।


Seema Sharma

Related News