See More

कहीं भिखारी बढ़ा न दें कोरोना का खतरा, लॉकडाऊन में भी मांग रहे भीख

2020-04-24T11:33:11.777

जम्मू (रोशनी): दुनियाभर की तरह भारत के जम्मू शहर में भी भयानक कोरोना वायरस के चलते हर तरफ लॉक डाउन का असर दिखाई दे रहा है। ऐसे में पुलिस प्रशासन इसे सख्ती से लागू करने हेतु अपने परिवार से दूर होकर इस खतरे की घड़ी में लगातार अपनी ड्यटी दे रहे हैं। सरकार, प्रशासन, पुलिस बल, जम्मू नगर निगम जहां तक ही जनता भी इस लॉकडाउन में कोरोना के प्रसार पर रोक लगाने के लिए अपनी सेवाएं व योगदान दे रहे हैं, लेकिन ऐसे में जम्मू शहर में कई भिखारियों को इस लॉकडाउन में भी भीख मांगते देखा गया है। ऐसे में हर किसी को डर है कि कहीं ये भिखारी कोरोना के खतरे को बढ़ा न दे। क्योंकि ये भिखारी लॉकडाउन में गिनी-चुनी खुली दुकानों पर व जरूरी कामों से अपने घरों से निकलने वालों लोगों से भीख मांग रहे हैं। जिससे कोरोना की खतरा फैल सकता है। 

PunjabKesari

 
भिखारियों के पास नहीं हैं मास्क व सैनिटाइजर
शहर में लॉकडाउन की स्थिति में भीख मांग रहे ये भिखारी इतने बेबस हैं कि इन्हें इस खतरनाक समय में भी भीख मांगनी पड़ रही हैं। इन भिखारियों के पास एक वक्त खाने को खाना नहीं है तो इनके पास मास्क व सैनिटाइजर कहां से आऐगें। ऐसे में ये भिखारी बिना मास्क व बिना सैनिटाइजर के इस्तेमाल के ही भीख मांग रहे हैं जो पूरे शहर के लोगों के लिए खतरा बना हुआ है। 

PunjabKesari


 लॉक डाऊन में आखिर क्यों आई भीख मांगने की नौबत
लॉकडाउन के समय में जब सरकार, प्रशासन, पुलिस बल, जम्मू नगर निगम, विभिन्न पार्टियां के नेता, एनजीओ व अन्य कुछ सक्षम लोग गरीब व जरूरतमंदों को राशन प्रदान कर उनकी मदद कर रहे है। आए दिन देखा जा रहा है कि शहर के कई इलाकों में राशन व जरूरत का सामना दिया जा रहा है। ऐसे में भिखारियों को भी इस समय मदद की जरूरत है। यदि भिखारियों को भी राशन व जरूरत का सामान दिया जाए या फिर उन्हें कहीं रखा जाए जहां पर उनकी निगरानी की जा सके तो तो हो सकता है इस खतरे को रोका जा सके। 
PunjabKesari

 क्या कहती हैं निगम आयुक्त
 जम्मू नगर निगम आयुक्त अवनी लवासा ने बताया कि इस समय इसका एक यह समाधान है कि सभी भिखारियों को एक शैल्टर में रखें, लेकिन इससे भी सामाजिक दूरी नहीं रहेगी और इससे अधिक समस्या बढ़ सकती है। इसलिए इससे बेहतर है कि जहां इस समय भिखारी है वो वहीं रहे। उन्होंने बताया कि निगम के पास एक शैल्टर है, लेकिन वो भी अभी रैड जोन में आ गया है। ऐसे में अलग-अलग जगहों से इनको एक साथ रखते हैं तो समस्या बढ़ जाएगी। उन्होंने कहा कि इस मामले में जम्मू डीसी से चर्चा की जाएगी ताकि इसका कोई समाधान निकल सके। निगम आयुक्त अवनी ने कहा कि दूसरी तरफ इन्हें राशन या जरूरतमंद सामान दे तो भी यह भीख मांगेगें क्योंकि बदकीसमती से इनका काम ही यही हैं। 
 


Monika Jamwal

Related News