वीरता पुरस्कारों का एलान, मेजर शुभांग और जितेंद्र सिंह को कीर्ति चक्र

punjabkesari.in Wednesday, Jan 25, 2023 - 10:47 PM (IST)

नेशनल डेस्कः राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने बुधवार को 74वें गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर छह कीर्ति चक्रों और 15 शौर्य चक्रों सहित 412 वीरता पुरस्कारों को मंजूरी दी। छह कीर्ति चक्रों में से चार को मरणोपरांत प्रदान किया गया। इसी तरह दो शौर्य चक्र मरणोपरांत दिए गए। कीर्ति चक्र अशोक चक्र के बाद भारत का दूसरा सर्वोच्च शांतिकालीन वीरता पुरस्कार है। शौर्य चक्र देश का तीसरा सर्वोच्च शांतिकालीन वीरता पुरस्कार है।

रक्षा मंत्रालय के अनुसार, कीर्ति चक्र पुरस्कार विजेताओं में राष्ट्रीय राइफल्स की 62 बटालियन की डोगरा रेजिमेंट के मेजर शुभांग और राष्ट्रीय राइफल्स की 44 बटालियन की राजपूत रेजिमेंट के नाइक जितेंद्र सिंह शामिल हैं। जिन लोगों को मरणोपरांत पुरस्कार से सम्मानित किया गया उनमें जम्मू-कश्मीर पुलिस के रोहित कुमार, सब-इंस्पेक्टर दीपक भारद्वाज और हेड कांस्टेबल सोढ़ी नारायण और श्रवण कश्यप शामिल थे। 

रक्षा मंत्रालय ने कहा कि शौर्य चक्र को मरणोपरांत जम्मू-कश्मीर राइफल्स की छठी बटालियन के नाइक जसबीर सिंह और जम्मू-कश्मीर पुलिस के कांस्टेबल मुदासिर अहमद शेख को प्रदान किया गया। यह पुरस्कार जम्मू और कश्मीर राइफल्स के लांस नायक विकास चौधरी, ग्रुप कैप्टन योगेश्वर कृष्णराव कांडलकर (पायलट), फ्लाइट लेफ्टिनेंट तेजपाल, स्क्वाड्रन लीडर संदीप कुमार झाझरिया, आनंद सिंह (आईएएफ गरुड़) और सुनील कुमार (आईएएफ) को भी प्रदान किया गया है।

मंत्रालय ने कहा कि शौर्य चक्र से सम्मानित अन्य लोगों में असिस्टेंट कमांडेंट सतेंद्र सिंह (एमएचए), डिप्टी कमांडेंट विक्की कुमार पांडे (एमएचए) और कांस्टेबल विजय उरांव हैं। पुरस्कारों में एक बार सेना पदक (शौर्य), 92 सेना पदक, चार मरणोपरांत, एक नाव सेना पदक (वीरता), सात वायु सेना पदक (वीरता) और 29 परम विशिष्ट सेवा पदक शामिल हैं।

पुरस्कारों में तीन उत्तम युद्ध सेवा मेडल, एक बार अति विशिष्ट सेवा मेडल, 52 अति विशिष्ट सेवा मेडल, 10 युद्ध सेवा मेडल, चार बार सेना मेडल (ड्यूटी के प्रति समर्पण) और 36 सेना मेडल (ड्यूटी के प्रति समर्पण) शामिल हैं। राष्ट्रपति ने दो बार नाव सेना पदक (कर्तव्य के प्रति समर्पण, मरणोपरांत), 11 नाव सेना पदक जिनमें तीन मरणोपरांत, 14 वायु सेना पदक, दो बार विशिष्ट सेवा पदक और 126 विशिष्ट सेवा पदक शामिल हैं। राष्ट्रपति तीनों सेनाओं का सर्वोच्च कमांडर होता है।


 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Yaspal

Related News

Recommended News