ब्लैक फंगस को लेकर एम्स प्रमुख ने किया आगाह- संक्रमण रोकने के लिए निर्देशों का पालन जरूरी

5/16/2021 12:04:14 PM

नेशनल डेस्क: एम्स के निदेशक रणदीप गुलेरिया देश के विभिन्न भागों में फंगल संक्रमण के बढ़ते मामलों पर आगाह करते हुए कहा कि यह बहुत महत्वपूर्ण है कि अस्पतालों को संक्रमण रोकने के लिए निर्देशों का पालन करना चाहिए। उन्होने कहा कि ‘ऐसा देखा गया है कि द्वितीयक संक्रमण चाहे फंगल से हो या बैक्टीरिया जनित, इससे ज्यादा मौतें हो रही है। 

 

चेहरा, आंखों में प्रभावित होता है ये फंगस
म्यूकरमाइकोसिस से चेहरा, आंखों के घेरे या मस्तिष्क प्रभावित हो सकता है जिससे दृष्टि भी जा सकती है। यह (संक्रमण) फेफड़े तक पहुंच सकता है।’’एम्स निदेशक ने कहा कि मधुमेह से ग्रस्त, कोविड-19 के रोगियों और स्टेराइड लेने वालों में फंगल संक्रमण की आशंका रहती है। इसे रोकने के लिए हमें स्टेराइड का दुरूपयोग रोकना चाहिए। 

 

देश के हर हस हिस्से में कोविड प्रबंधन होना चाहिए: गुलेरिया
वहीं इसके अलावा का  गुलेरिया ने कहा कि देश के हर हस हिस्से में कोविड प्रबंधन होना चाहिए।ग्रामीण इलाकों में महामारी के प्रसार की खबरों के बीच उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के मरीजों के इलाज के संबंध में सरकार का ध्यान ग्रामीण इलाकों में प्रशिक्षण, अस्पतालों में संक्रमण रोकने के लिए बेहतर तौर-तरीका लागू करने और फंगल संक्रमण की रोकथाम पर है।

 

 ग्रामीण इलाकों से संपर्क होना जरूरी: गुलेरिया
गुलेरिया ने कहा कि सभी हिस्सों से खासकर ग्रामीण इलाकों से संपर्क बनाना चाहिए। स्वास्थ्य मंत्रालय और आखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) ने क्षेत्रीय स्तर पर राष्ट्रीय उत्कृष्टता संस्थानों के लिए ग्रामीण इलाकों में कोविड प्रबंधन को लेकर 30 अप्रैल से 13 मई तक एक कार्यक्रम चलाया। इस दौरान गृह-पृथकवास, उपचार-दवा, आईसीयू प्रबंधन, जांच, मधुमेह प्रबंधन पर वेबिनार आयोजित किए गए।’’
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

vasudha

Recommended News

static