ऑफ द रिकॉर्डः 75 सप्ताहों तक चलने वाले समारोह लिखेंगे देश के इतिहास की नई गाथा

punjabkesari.in Thursday, Mar 18, 2021 - 05:39 AM (IST)

नई दिल्लीः भारत की स्वतंत्रता के 75 वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष्य में 75 सप्ताहों तक चलने वाले समारोह एक नई गाथा लिखने जा रहे हैं। इस संबंध में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कुछ नए विचार भी सामने आए हैं। मोदी ने 2022 तक 2 जनजातीय संग्रहालय स्थापित करने की योजना बनाई है। इनमें से एक ‘जनजातीय स्वतंत्रता सेनानी संग्रहालय’ के नाम से गुजरात में बनेगा। ऐसे नए नायकों की खोज बड़े पैमाने पर जारी है जिन्हें देश में कोई नहीं जानता और जिनके शौर्य की कभी प्रशस्ति नहीं गाई गई।

मोदी सरकार ने एक उच्चस्तरीय समिति गठित की है जो राज्यों में नए ऐतिहासिक नायकों की तलाश कर रही है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 15 अगस्त 2021 से आरंभ होने वाले स्वतंत्रता दिवस समारोहों को लेकर अपना विजन देश को बताएंगे। प्रधानमंत्री चाहते हैं कि नया संसद भवन भी अगस्त 2022 तक पूर्ण हो जाए ताकि नवनिर्मित भवन में ही संसद का विशेष सत्र बुलाया जाए। केंद्र सरकार के मंत्रालयों ने कम से कम ऐसे 10 प्रोजैक्ट आरंभ किए हैं जिनसे देश का गौरव प्रतिबिंबित होगा।

इस महान अवसर के लिए नए प्रकार का साहित्य भी लिखा जा रहा है जिसमें राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आर.एस.एस.) व ऐसी कई अन्य संस्थाओं व संगठनों तथा व्यक्तियों की भूमिका प्रस्तुत की जाएगी,जिनकी देश के स्वतंत्रता आंदोलन में भूमिका या तो कभी दिखाई ही नहीं गई या उन्हें गलत रंग में पेश किया गया है। शिक्षा मंत्रालय एवं केंद्रीय विश्वविद्यालय संग्रहालयों से दस्तावेज व साहित्य तलाश कर स्वतंत्रता संग्राम की नई गाथा लिख रहे हैं। उच्च पदस्थ सूत्रों ने कहा कि स्वतंत्रता के बाद से पिछले 74 वर्षों में कांग्रेस ने जो इतिहास पढ़ाया है, उसे फिर से लिखा जाएगा। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Pardeep

Related News

Recommended News