मुद्रास्फीति में बढ़ोतरी क्षणिक, आरबीआई के यथास्थिति बनाए रखने की उम्मीद: रिपोर्ट

2021-07-26T18:30:46.027

मुंबई, 26 जुलाई (भाषा) बैंक ऑफ अमेरिका सिक्योरिटीज ने अपनी एक रिपोर्ट में कहा है कि बीते दो महीनों से खुदरा मुद्रास्फीति का बढ़कर छह प्रतिशत से अधिक होना एक ‘क्षणिक उभार’ है और उम्मीद जताई कि आरबीआई इसे नजरअंदाज करेगा तथा आगामी नीति समीक्षा में आम सहमित से यथास्थिति को कायम रखेगा।

वाल स्ट्रीट स्थित ब्रोकरेज फर्म ने कहा कि हालांकि आरबीआई अपने मुद्रास्फीति के लक्ष्य में संशोधन कर सकता है। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) की मौद्रिक नीति समिति छह अप्रैल को मौद्रिक नीति की समीक्षा की घोषणा करेगी।
बैंक ऑफ अमेरिका सिक्योरिटीज इंडिया हाउस के अर्थशास्त्रियों की एक रिपोर्ट के मुताबिक, ‘‘हमें उम्मीद हैं कि एमपीसी छह अगस्त की नीति समीक्षा में मुद्रास्फीति में क्षणिक उभार को देखते हुए यथास्थिति को कायम रखेगा। इसके आगे सामान्यीकरण का रास्ता वृद्धिदर? मुद्रास्फीति और महामारी के रुझानों रुख पर निर्भर करेगा।’’ रिपोर्ट में कहा गया कि जल्दबाजी में मौद्रिक समर्थन वापस नहीं लेना चाहिए।


यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Recommended News