एलआईसी हाउसिंग फाइनेंस का शुद्ध मुनाफा चौथी तिमाही में पांच प्रतिशत घटकर 398.92 करोड़ रुपये

2021-06-15T21:46:43.1

मुंबई, 15 जून (भाषा) बंधक फाइनेंसर एलआईसी हाउसिंग फाइनेंस (एलआईसी एचएफएल) ने मार्च 2021 में समाप्त तिमाही में मुनाफा 398.92 करोड़ रुपये दिखाया है। यह एक साल पहले इसी तिमाही से पांच प्रतिशत कम है। वसूल नहीं होने वाले कर्ज के लिए नुकसान का ऊंचा प्रावधान करने के कारण लाभ प्रभावित हुआ।
कंपनी ने एक साल पहले की समान अवधि में 421.43 करोड़ रुपये का कर बाद का मुनाफा दर्ज किया था।
कंपनी ने मंगलवार को एक बयान में कहा कि वित्तवर्ष 2020-21 में, शुद्ध मुनाफा पिछले वर्ष के 2,401.84 करोड़ रुपये के मुकाबले 14 प्रतिशत बढ़कर 2,734.34 करोड़ रुपये हो गया।
एलआईसी एचएफएल के प्रबंध निदेशक और सीईओ वाई विश्वनाथ गौड ने कहा,‘‘हमने चौथी तिमाही में वसूली में हर तरह की चूक के लिए प्रावधान किया इसी के चलते एनपीए संबंधी प्रावधान अधिक रहा। इससे आलाच्य तिमाही के दौरान लाभ को प्रभावित हुआ।’’ उन्होंने कहा कि तिमाही के दौरान 1,000 करोड़ रुपये के प्रावधान किये गये ।

कंपनी ने जनवरी-मार्च 2021 में कुल 22,362 करोड़ रुपये के ऋण दिए जो एक साल पहले के 11,323 करोड़ रुपये की तुलना में 97 प्रतिशत अधिक है। इसमें 19,010 करोड़ रुपये के कर्ज व्यक्तिगत और 1,197 करोड़ रुपये परियोजना श्रेणी के कर्ज थे। एक साल पहले इसी अवधि में नइ श्रेणियों में विरित कर्ज क्रमश: 8,877 करोड़ रुपये और 411 करोड़ रुपये था।


यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Recommended News