कोविड की चुनौतियों से घिरा भारत में हैरिस का परिवार

5/7/2021 10:13:45 AM

वाशिंगटन, सात मई (एपी) अमेरिकी उपराष्ट्रपति कमला हैरिस के मामा जी.बालाचंद्रन इस साल 80 वर्ष के हो गए हैं और अगर कोरोना वायरस वैश्विक महामारी न आई होती तो वह अपने परिवार के सदस्यों से घिरे होते जो उनके साथ जन्मदिन के जश्न में शरीक होते।

लेकिन अपने गृह राज्य भारत में वायरस के प्रकोप के चलते बालाचंद्रन को इस बार सिर्फ फोन पर बधाई के संदेशों से काम चलाना पड़ा। इनमें से एक संदेश उनकी बेहद लोकप्रिय भांजी अमेरिकी उपराष्ट्रपति कमला हैरिस का भी था।

उन्होंने नयी दिल्ली में अरने घर से जूम पर हुए साक्षात्कार में बृहस्पतिवार को कहा, “दुर्भाग्य से, कोविड के कारण, मैं बड़ा कार्यक्रम नहीं कर पाया।”
हैरिस के मामा ने कहा कि उन्होंने हैरिस और उनके पति डॉग एमहॉफ से कुछ समय पहले बात की थी। बातचीत के अंत में हैरिस ने उन्हें आश्वासन दिया था कि वह उनकी बेटी- अपनी ममेरी बहन जो वाशिंगटन में रहती हैं, उसका ख्याल रखेंगी।

मार्च में हुई बातचीत के अंश याद करते हुए बालाचंद्रन ने कहा, “चिंता मत करो, मामा। मैं आपकी बेटी का ख्याल रखूंगी। मैं उससे समय-समय पर बात करती रहती हूं।”
बालाचंद्रन और हैरिस के बीच आखिरी बार यही बातचीत हुई थी। उसके बाद से कोरोना वायरस भारत में अनियंत्रित हो गया है और स्वास्थ्य व्यवस्था पर अत्यंत दबाव डालने के साथ ही हजारों लोगों की जान ले चुका है।

भारत में इस संकट ने बाइडन प्रशासन के लिए कूटनीतिक एवं मानवीय चुनौतियां खड़ी की हैं लेकिन हैरिस के लिए यह निजी भी है क्योंकि उनकी मां भारतीय मूल की हैं और उन्होंने अपने पूरे राजनीतिक करियर में भारत की अपनी कई यात्राओं का जिक्र किया है।
एपी

नेहा मनीषा मनीषा 0705 1020 वाशिंगटन

यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Recommended News

static