नेतन्याहू ने जॉर्डन के शाह से की मुलाकात, इन मुद्दों पर हुई चर्चा

punjabkesari.in Wednesday, Jan 25, 2023 - 06:35 AM (IST)

यरुशलमः इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने शाह अब्दुल्ला द्वितीय से मिलने के लिए मंगलवार को जॉर्डन की यात्रा की। यह इतिहास में इजरायल की सबसे दक्षिणपंथी और धार्मिक रूप से रूढ़िवादी सरकार के सत्ता संभालने के बाद उनकी पहली यात्रा है। इजरायल और जॉर्डन के आधिकारिक बयानों ने नेताओं के बीच चर्चा के बारे में बहुत कम जानकारी दी। 

जॉर्डन के आधिकारिक बयान में संकेत दिया गया है कि दोनों नेताओं के बीच बातचीत यहूदियों और मुसलमानों दोनों के लिए पवित्र यरुशलम के पुराने शहर में एक विवादित पवित्र स्थल की स्थिति के आसपास केंद्रित रही। यह पवित्र स्थल इजरायल और फिलिस्तीनियों के बीच संघर्ष के केंद्र में एक भावनात्मक मुद्दा है। 

जॉर्डन के शाही दरबार ने कहा कि शाह अब्दुल्ला द्वितीय ने इजराइल से “पवित्र स्थल” में यथास्थिति का सम्मान करने का आग्रह किया। मुसलमान द्वारा इसे नोबल सेंचुरी और यहूदियों द्वारा टेंपल माउंट कहा जाता है। एक विशाल पठार पर स्थित यह “धार्मिक स्थल” इस्लाम में तीसरा सबसे पवित्र स्थल है। 

जॉर्डन के संरक्षण में दशकों से चली आ रही एक व्यवस्था के तहत, यहूदियों और गैर-मुस्लिमों को कुछ घंटों के लिए यात्रा की अनुमति है, लेकिन वे वहां प्रार्थना नहीं कर सकते हैं। लेकिन इजरायल के नवनिर्वाचित सरकार के सदस्यों सहित यहूदी धार्मिक राष्ट्रवादियों ने स्थल का दौरा तेज कर दिया है और वहां यहूदियों के लिए समान प्रार्थना अधिकार की मांग की, जिससे दुनिया भर के फिलिस्तीनियों और मुसलमानों में आक्रोश पैदा कर दिया। 

मंगलवार की बैठक में, शाह अब्दुल्ला द्वितीय ने भी इजरायल को “हिंसा के अपने कृत्यों को रोकने” के लिए प्रेरित किया। ये हिसंक कृत्य दशकों से चल रहे इजरायल-फिलिस्तीनी संघर्ष के अंतिम शांतिपूर्ण समाधान की उम्मीदों को कम कर रहे हैं। जॉर्डन सरकार ने ‘दो-राष्ट्र' समाधान के लिए अपने समर्थन की पुष्टि की। नेतन्याहू के कार्यालय ने कहा कि उन्होंने “क्षेत्रीय मुद्दों” और प्रमुख क्षेत्रीय सहयोगी जॉर्डन के साथ सुरक्षा और आर्थिक सहयोग पर चर्चा की। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Pardeep

Related News

Recommended News