See More

म्यांमार में 63.45 अरब रुपए से अधिक के नशीले पदार्थ आग के हवाले, धमाकों से दहल गया शहर

2020-06-27T15:25:04.663

यंगूनः दक्षिण पूर्व एशिया में नशा तस्करी के लिए जाने जाते देश म्यांमार के सबसे बड़े यंगून शहर में 839 मिलियन डॉलर से अधिक (63 अरब 45 करोड़ 18 लाख 92 हजार रुपए) के नशीले पदार्थ आग के हवाले कर दिए गए। यह कार्रवाई म्यांमार सरकार और ड्रग्स एंड क्राइम ब्रांच संयुक्त राष्ट्र कार्यालय की तरफ से संयुक्त रूप से की गई। ये अवैध नशीले पदार्थ पुलिस ने विभिन्न कारवाइयों में जब्त किए थे जिनमें अफीम, हेरोइन, मेथामफेटामाइन, मारिजुआना, केटामाइन और उत्तेजक को बर्फ या क्रिस्टल मेथ आदि शामिल थे ।

PunjabKesari

इन नशीले पदार्थों की इतनी बड़ी खेप को जलाने पर जोरदार धमाका हुआ कि पूरा शहर धमाकों से दहल गया और आग की लपटे दूर-दूर तक फैल गईं। अधिकारियों ने मांडले, लशियो और पूर्वी म्यांमार के शान राज्य की राजधानी तांग्गी में ड्रग्स को नष्ट कर दिया, जहां से ड्रग्स का उत्पादन होता है। म्यांमार सरकार और ड्रग्स एंड क्राइम पर संयुक्त राष्ट्र कार्यालय ने मई में मादक पदार्थों के रिकॉर्ड में गिरावट की घोषणा की। अप्रैल की शुरुआत में लगभग 6 सप्ताह की अवधि के दौरान, संयुक्त पुलिस और सेना के ऑपरेशन ने शान राज्य के एक गांव में और लगभग 200 मिलियन मेथम्फेटामाइन गोलियों सहित लगभग 18 टन ड्रग्स जब्त किए थे।

PunjabKesari

म्यांमार में दशकों से जारी गृहयुद्ध के कारण नशा तस्करी व उत्पादन का लंबा इतिहास रहा है। सरकार कहती है कि कुछ जातीय सेनाएँ-जो दूरदराज के इलाकों के बड़े-बड़े इलाकों को नियंत्रित करती हैं-अपनी विद्रोहियों की फंडिंग के लिए नशीले पदार्थों का इस्तेमाल करती हैं। लेकिन आलोचकों ने म्यांमार की सरकार और खुद की सेना पर व्यापार से मुनाफा कमाने का आरोप लगाया है।

PunjabKesari


Tanuja

Related News