ओमीक्रोन का खौफ- इटली-जर्मनी और चेक गणराज्य में मिले नए केस...इजराइल ने सीमाएं की सील

punjabkesari.in Sunday, Nov 28, 2021 - 09:45 AM (IST)

इंटरनेशनल डेस्क: इटली और जर्मनी के बाद अब चेक गणराज्य के लिबरेक शहर के एक अस्पताल में कोरोना वायरस के नए वेरिएंट ओमीक्रोन के मामले की पुष्टि हुई है। चेक टीवी ने यह रिपोर्ट दी है। प्रधानमंत्री लेडी बाबिस ने शनिवार कहा कि एक महिला का ओमीक्रोन स्ट्रेन के लिए परीक्षण किया गया है। उसने नामीबिया की यात्रा की थी और दक्षिण अफ्रीकी गणराज्य तथा दुबई से होते हुए चेक गणराज्य लौटी है। बाद में चेक टीवी ने लुबेरेक अस्पताल के हवाले से महिला के ओमीक्रोन वेरिएंट से संक्रमित होने की पुष्टि की। उन्होंने कहा कि महिला में बीमारी के हल्के लक्षण है। उसे आईसोलेशन में रखा गया है। 

 

इटली और जर्मनी में भी मिले मामले
इटली और जर्मनी में कोरोना वायरस संक्रमण के नए स्वरूप ओमीक्रोन के मामलों की पुष्टि हुई है। इतालवी समाचार एजेंसी ला प्रेसे ने बताया कि अफ्रीकी देश मोजाम्बिक से लौटा व्यक्ति ओमीक्रोन स्वरूप से संक्रमित पाया गया है। एजेंसी ने बताया कि यह व्यक्ति एक कारोबारी है और 11 नवंबर को नेपल्स के निकट स्थित अपने घर लौटा था। ला प्रेसे के मुताबिक कारोबारी के परिवार के पांच सदस्य भी वायरस के नए स्वरूप से संक्रमित पाए गए हैं जिनमें दो स्कूली बच्चे में भी शामिल है।

 

सभी संक्रमितों को नेपल्स के उपनगर कैसरटा में आइसोलेशन में रखा गया है और सभी में संक्रमण के हल्के लक्षण हैं व उनकी हालत ठीक है। मिलान के सैको अस्पताल और इटली के राष्ट्रीय स्वास्थ्य संस्थान ने भी व्यक्ति के ओमीक्रोन स्वरूप से संक्रमित होने की पुष्टि की है और कहा कि उसे टीके की दोनों खुराक लग चुकी थी। जर्मनी में म्यूनिख के मैक्स वोन पेट्टेनकोफर इंस्टीट्यूट ने भी 24 नवंबर को दक्षिण अफ्रीका से लौटे दो यात्रियों के ओमीक्रोन स्वरूप से संक्रमित होने की पुष्टि की है। जर्मनी ने यह भी कहा कि उसे तीन लोगों के इस स्वरूप से संक्रमित होने का संदेह है जबकि इटली, दक्षिण अफ्रीका से आए और संक्रमण के शिकार हुए मामलों की जांच कर रहा है। 

 

इजराइल ने सील की सीमाएं
इजराइल ने कोरोना के नए वेरिएंट ओमीक्रोन के प्रसार को रोकने के लिए देश में विदेशियों के प्रवेश पर दो हफ्ते के लिए प्रतिबंध लगा दिया है। इजरायल के प्रधानमंत्री नफ्ताली बेनेट के कार्यालय ने यह जानकारी दी है। प्रधानमंत्री कार्यालय के अनुसार शनिवार रात कोरोना को लेकर हुई मंत्रिमंडल की बैठक में सभी सीमाओं को विदेशियों के लिए 14 दिनों तक बंद करने का फैसला लिया गया। उन्होंने बताया कि विदेश से लौटने वाले इजराइल नागरिकों को हवाईअड्डे पर कोरोना वायरस की जांच करानी होगी। फिर उन्हें स्वयं को आईसोलेशन में रखना जरूरी होगा। जिसके बाद उन्हें फिर से परीक्षण करवाना होगा।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Seema Sharma

Related News

Recommended News