क्वाड देशों की रणनीति से बढ़ी चीन की टेंशन, आसियान से दोस्ती के लिए शुरू की सद्भावना यात्रा

2020-10-18T17:18:12.03

इंटरनेशनल डेस्कः भारत-अमेरिका सहित दुनिया के कई बड़े देशों के साथ संबंध बिगाड़ चुका चीन टोक्यो में हुई चार क्वाड देशों की बैठक के बाद टेंशन में है। इसके अलावा अमेरिकी नौसेना की क्षेत्र में बढ़ती आमद से भी चीन की धड़कनें बढ़ गई हैं। अब वह अपनी धौंस दिखाने की आदत को भूल फिलहाल दोस्ती का नाटक करने लगा है।

 

इसी कड़ी में अब वह दक्षिण-पूर्वी एशियाई देशों (आसियान) के साथ संबंध सुधारने की कोशिश में जुटा है क्योंकि दक्षिण चीन सागर में चीन की बढ़ती हरकतों का जवाब देने के लिए ये देश भी अमेरिका को समर्थन देते दिख रहे हैं।  टोक्यो में क्वाड देशों की बैठक के बाद उसके विदेश मंत्री वांग ई ने आसियान देशों की यात्रा शुरू की है। इंडोनेशिया, मलेशिया, फिलीपींस, सिंगापुर, वियतनाम समेत इलाके के अन्य देशों के साथ चीन वर्षो से मनमानी कर रहा है। दक्षिण चीन सागर पर अधिपत्य जमाने के साथ ही चीन ने इन देशों के द्वीपों पर भी अधिकार जताना शुरू कर दिया है।

 

मछली पकड़ने के मामले में हाल के दिनों में चीन का वियतनाम और मलेशिया से विवाद भी हुआ है।  इन विवादों की काली छाया खत्म करने के लिए वांग ई आसियान देशों की सद्भावना यात्रा पर निकले हैं। इस दौरान वह कोविड-19 महामारी से बचाव के लिए वैक्सीन मुहैया कराने और आर्थिक सहयोग बढ़ाने जैसे आश्वासन दे रहे हैं। इस कूटनीति में चीन इन देशों को अमेरिका से दूर रहने का संदेश भी दे रहा है।


Tanuja

Related News