दोपहर में सोने से देवी लक्ष्मी हो जाती हैं खफा! आखिर क्यों?

punjabkesari.in Sunday, Jun 26, 2022 - 09:51 AM (IST)

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ
आज कल की भागदौड़ भरी लाइफ में हर कोई चाहता है कि उसे दो पल फुर्सत के मिल जाएं और अगर किसी को ये दो पल मिल जाएं तो हर किसी की सबसे पहली कामना यही होती है कि वो कुछ समय के लिए ही सही पर नींद जरूर लें। और यही नींद अगर दोपहर को पूरी हो जाए तो और भी आरामदायक महसूस होता है। बात करें महिलाओं की तो अक्सर देखा जाता है घर के कामों को करने के बाद वो थक हार कर दोपहर में सो जाती हैं। तो वहीं कुछ ऐसे भी लोग होते हैं जिनकी रोज़ाना दोपहर में सोने की आदत होती है। परंतु क्या आप जानते हैं कि दोपहर को सोना आपके लिए बहुत नुकसान दायक साबित हो सकता है खासतौर पर तब जब आप अपने आप को देवी लक्ष्मी के भक्त मानते हैं और उनकी कृपा पाना चाहते हैं। जी हां, धार्मिक शास्त्रों के अनुसार बेवजह दोपहर को सोना नुकसानदायक साबित होता है। हालांकि बच्चों, बूढ़ों व रोगियों के लिए दोपहर को सोना नुकसानदेह नहीं होता। तो आइए जानते हैं दिन में सोना आपके लिए क्यों कितना ज्यादा खतरनाक साबित हो सकता है।

PunjabKesari goddess lakshmi, lakshmi mata, maa lakshmi, afternoon nap, niti shastra, niti, shastra in hindi, niti gyaan in hindi, motivational concept, Hinduism, Hindu Sanskriti, Dharm, Punjab Kesari

हिंदू धर्म के शास्त्रों में नींद को लेकर कहा गया है कि दिन में सोना शास्त्रों के हिसाब से वर्जित है। तो वहीं जरूरतमंद जैसे कि छोटे बच्चे, बीमार व्यक्ति, बुजुर्ग व्यक्ति दिन में सो सकते हैं। इन लोगों को शास्त्रों में दिन में सोने की छूट दी गई है। और स्वस्थ व्यक्ति के लिए दिन में सोना उसकी बर्बादी को निमंत्रण देता है। उसके जीवन की स्थिति खराब रहती है और ऐसा व्यक्ति हर समय परेशान रहता है। शास्त्रों में कहा गया है कि दोपहर या संध्या काल के समय सभी देवी-देवता धरती पर ही रहते हैं और इस समय सोने वाले लोग देवी- वताओं के आशीर्वाद से वंचित रह जाते हैं। संध्या के समय घर में पूजा पाठ और भगवान का भजन करना चाहिए इससे आपके घर का दुर्भाग्य दूर होता है और साथ ही स्वास्थ पर भी इसका अच्छा परिणाम मिलता है।

PunjabKesari goddess lakshmi, lakshmi mata, maa lakshmi, afternoon nap, niti shastra, niti, shastra in hindi, niti gyaan in hindi, motivational concept, Hinduism, Hindu Sanskriti, Dharm, Punjab Kesari

आपको बता दें कि शास्त्रों में दिन के ऐसे कुछ खास समय बताए गए हैं जिस समय सोने से अपशकुन माना जाता है। सूर्योदय के बाद सोना अपशकुन माना जाता है साथ ही इस समय सोना आपके स्वास्थ को भी प्रभावित करता है। सूर्योदय से पहले उठने के बाद खुली हवा में घूमना सेहत के लिहाज से भी बेहद अच्छा माना जाता है। साथ ही इस समय उठने से घर में बरकत रहती है। तो वहीं दोपहर से लेकर शाम तक का समय शास्त्रों के हिसाब से सोने के लिए तो अशुभ है ही वहीं यह आपको स्वास्थ्य संबंधी बीमारियां भी दे सकता है। पेट से जुड़ी बीमारियों ऐसे व्यक्ति को सबसे पहले होती हैं। और तो और शरीर में आलस और सुस्ती भी बनी रहती है।

सोते समय ये चीजें पास न रखें-
सोते समय आपकी तकिया के पास अगर पर्स या सिर्फ पैसे रखे हैं तो उसे हटा देना चाहिए। उसे सिरहाने रखकर नहीं सोना चाहिए। ऐसा करने से व्यक्ति हर समय पैसों से सम्बंधित चिंता से घिरा रहता है और उसके पास पैसे आकर भी कभी नहीं रुकते हैं। इसके अलावा व्यक्ति को अपने सोने के समय सिर के पास कोई भी इलेक्ट्रॉनिक चीज पास रखकर नहीं सोना चाहिए। मोबाइल या घड़ी तो बिल्कुल भी पास नहीं होना चाहिए। ऐसा करने से व्यक्ति को बेवजह का मानसिक तनाव रहता है जो सेहत के लिए सही नहीं होता है। इंसान को अपने तकिए के नीचे या आस-पास कोई भी किताब या अखबार नहीं रखना चाहिए। मैगजीन के लिए भी यह बात लागू है क्योंकि ऐसा करने से आपका जीवन गलत दिशा में प्रभावित हो सकता है। इसके बाद आपके जीवन का लक्ष्य अलग ही हो जाएगा और आपको इसकी बहुत हानि हो सकती है।

PunjabKesari goddess lakshmi, lakshmi mata, maa lakshmi, afternoon nap, niti shastra, niti, shastra in hindi, niti gyaan in hindi, motivational concept, Hinduism, Hindu Sanskriti, Dharm, Punjab Kesari
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Jyoti

Related News

Recommended News