Vighnaraja Sankashti Chaturthi: आज इन आसान उपायों से करें गणेश जी को प्रसन्न, विघ्न-बाधाएं होंगी दूर

punjabkesari.in Monday, Oct 02, 2023 - 06:49 AM (IST)

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ

Vighnaraja Sankashti Chaturthi: पंचांग के मुताबिक हर माह में दो बार चतुर्थी तिथि मनाई जाती है। हर चतुर्थी का अपना ही अलग महत्व होता है। आज 2 अक्टूबर को विघ्नराज संकष्टी चतुर्थी का व्रत रखा जाएगा। दक्षिण भारत में इस व्रत को गणेश संकटहरा या संकटहरा चतुर्थी के नाम से भी जाना जाता है। संकटहरा नाम की तरह बप्पा अपने भक्तों के हर संकट को दूर कर देते हैं। पुराणों और ग्रंथों के अनुसार संकष्टी चतुर्थी के दिन बप्पा की अगर सच्चे मन से पूजा की जाए तो जीवन भर घर से नकारात्मक ऊर्जा दूर रहती है और कभी भी पैसों से जुड़ी परेशानियों का सामना नहीं करना पड़ता। अगर आप भी चाहते हैं, आपका परिवार खुशियों से भरा रहे तो जरूर करें ये उपाय-

PunjabKesari Vighnaraja Sankashti Chaturthi
Sankashti Chaturthi date संकष्टी चतुर्थी तिथि
संकष्टी चतुर्थी की शुरुआत 2 अक्टूबर को शाम 7:36 बजे से होगी और सुबह 6:11 बजे तक इसका समापन हो जाएगा।

Vighnaraj Sankashti Chaturthi Special Remedy विघ्नराज संकष्टी चतुर्थी स्पेशल उपाय
धन से जुड़ी परेशानियों से पीछा छुड़ाने के लिए आज विघ्नराज संकष्टी चतुर्थी के दिन बप्पा की मूर्ति को घर लाएं। उसके बाद विधिपूर्वक उनकी पूजा करने के बाद हल्दी की 5 गांठ गणेश जी को अर्पित करें। ऐसा करने से जल्द ही अपनी मनोकामना पूर्ण होगी।

PunjabKesari Vighnaraja Sankashti Chaturthi
व्यक्ति के सभी कार्यों को पूर्ण करने के लिए गणेश यंत्र को बहुत लाभकारी माना जाता है। मान्यता है इसे घर में स्थापित करने से हमेशा पॉजिटिव वाइब्स बनी रहती हैं। वहीं विघ्नराज संकष्टी चतुर्थी के दिन अगर इसे घर लाया जाए तो जल्द ही इसके शुभ परिणाम देखने को मिलते हैं।

संकष्टी चतुर्थी के दिन बप्पा के मंत्रों का जाप करने से घर में सुख-शांति का वास रहता है और गृह क्लेश से भी मुक्ति मिलती है।
108 बार 'वक्रतुण्डाय हुं' मंत्र का जाप करें।

इसके अलावा इन मंत्रों का भी जाप किया जा सकता है-
ऊँ गं गणपतये नमो नमः
ऊँ वक्रतुण्ड महाकाय सूर्य कोटि समप्रभ । निर्विघ्नं कुरू मे देव, सर्व कार्येषु सर्वदा ॥
ऊँ एकदन्ताय विहे वक्रतुण्डाय धीमहि तन्नो दन्तिः प्रचोदयात् ॥

PunjabKesari Vighnaraja Sankashti Chaturthi

अगर सिर पर कर्जे का भार है तो संकष्टी चतुर्थी के दिन भगवान शिव-पार्वती के लाल गणेश जी को गुड़ और घी का भोग लगाएं। उसके बाद उसी भोग को गाय को खिला दें। इस उपाय को करने के बाद आपको जल्द ही अपने जीवन में चमत्कार देखने को मिलेंगे।

नौकरी या व्यापार के अलावा अगर विवाह से जुड़ी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है तो। ज्योतिष शास्त्र में इसका भी हल बताया गया है। कुछ ज्योतिषियों के अनुसार अगर शादी में देरी का सामना करना पड़ रहा है तो बप्पा को गुड़ की 21 गोलियां और दूर्वा अर्पित करें। ऐसा करने से शीघ्र अति शीघ्र विवाह के योग बनते हैं।   


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Niyati Bhandari

Related News

Recommended News