Shardiya Navratri 2021: बच्चों को विद्या प्राप्ति के लिए करना चाहिए इस मंत्र का जप

punjabkesari.in Friday, Oct 08, 2021 - 01:51 PM (IST)

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ
धार्मिक शास्त्रों के अनुसार वर्ष भर में पड़ने वाले प्रत्येक नवरात्रों के दौरान देवी दुर्गा के नौ विभिन्न रूपों की पूजा-अर्चना की जाती है। जिसके अनुसार शारदीय नवरात्रि के दूसरे दिन देवी दुर्गा के द्वितीय रूप देवी ब्रह्मचारिणी की पूजा का विधान है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार इनकी आराधना सेे जातक को अनंतफल की प्राप्ति होती है। धर्म ग्रंथ में इन्हें सिद्धि और विजय प्रदान करने वाली देवी माना जाता। तो वहीं इसके अलावा इन्हें विद्या प्राप्ति की देवी भी माना जाता है। इसलिए विद्या प्राप्ति के लिए इनकी उपासना करनी चाहिए। तो चलिए दूसरे नवरात्रि के इस शुभ अवसर पर जानते हैं कि देवी ब्रह्मचारिणी के किस मंत्र का जाप करने से विद्या की प्राप्ति होती है।  

यहां जानें मां का विद्याप्राप्ति विशेष मंत्र- 

ब्रह्मचारिणी का विद्यामंत्र-


या देवी सर्व भूतेषु, विद्या रूपेण संस्थिता।।
नमस्तस्यै, नमस्तस्यै, नमस्तस्यै, नमो नमः।।

इन स्पेशल उपाय के साथ करें विद्यामंत्र का जाप-
विद्या प्राप्ति के लिए चमेली या किसी भी सफ़ेद फूल को 6 लौंग और एक टुकड़े कपूर के साथ

'' या देवी रूप देवी सर्वभूतेषु विद्यारूपेण संस्थिता
 नमस्तस्यै, नमस्तस्यै, नमस्तस्यै, नमो नम: ''

पढ़ते हुए 45 आहुतियां रोज़ाना मां भवानी यानि मां दुर्गा के सामने देने से उत्तम विद्या प्राप्त होती है।

जो बच्चे पढ़ाई में कमज़ोर हैं, उसे बच्चे के सिर से पैर तक एक धागा नाप कर तोड़ लें अब इस मंत्र का उच्चारण करते हुए इस धागे को 45 गांठे लगा दें और इसे माता को समर्पित करके बच्चे से नवरात्र भर इस धागे से मंत्र जाप करवाएं। नवरात्र की नवमी को इस धागे को जल में प्रवाहित कर दें। 
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Jyoti

Related News

Recommended News