2020 में शनि बदल रहे हैं अपना घर, किसकी मुसीबतों पर लगेगा पूर्ण विराम

2019-12-28T17:28:23.54

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ
शनि जिनका नाम सुनते ही लोगों के मन में एक डर पैदा हो जाता है क्योंकि धार्मिक ग्रंथों में इनके बारे जो उल्लेख मिलता है उसके अनुसार ये क्रूर ग्रह माने जाते हैं। इसी के चलते आप में से बहुत से लोग होंगे जिन्हें ये चिंता सता रही होगी कि आख़िर 2020 में शनि उनको कैसे परिणाम देंगे। तो आपको बता दें हम आपके लिए इससे ही जुड़ी जानकारी लेकर आएं हैं। तो आइए जानते हैं 2020 में शनि के बदली चाल किस करेगी मालामाल और किसे कर देगी कंगाल-
PunjabKesari, वेलकम 2020, Welcome 2020
अब चाहता तो हर कोई यहीं होगा कि वो नए साल में हर तरह से सफलता पाए और बुलंदियों को छूए लेकिन हर इंसान की ये चाहत पूरी हो ऐसा हो पाना मुमकिन तो नहीं। क्योंकि ग्रहों का प्रभाव अगर मानव जीवन पर अच्छा होगा तो कहीं न कहीं ये अपना अशुभ प्रभाव भी जातकों पर डालेगा। बता दें शनि की दृष्टि भी कुछ ऐसा ही करने वाली है। कुछ राशियों पर तो इसका असर बहुत ही अच्छा होगा परंतु कुछ राशियां इनके कुप्रभाव से अधिक प्रभावित होंगी। तो चलिए जानते हैं साल 2020 में किन राशियों पर शनि का प्रभाव अच्छा रहेगा तो किन कौन सी राशियां इनकी साढ़ेसाती से प्रभावित रहेंगी।

अगर बात करें ज्योतिष शास्त्र कि तो  सभी ग्रहों में शनि के गोचर की अवधि सबसे अधिक होती है। यह लगभग अढ़ाई साल बाद अफना घर बदलता है यानि राशि परिवर्तन करता है। यही मुख्य कारण है कि इसका ग्रह का मानव जीवन पर सबसे अधिक प्रभाव रहता है। अब ऐसी परस्थिति के चलते ये ये जानना बहुत ज़रूरी है कि 2020 में किन राशियों के जातकों की परेशानी बढ़ सकती है।

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, 24 जनवरी 2020 को शनि धनु राशि से स्वराशि मकर राशि में गोचर करने जा रहा है जो 11 मई से 29 सितंबर तक मकर राशि में वक्री रहने वाला है। ऐसे में कहा जा रहा है कि धनु और मकर राशि में पहले से चल रही शनि की साढ़ेसाती अब कुंभ पर आ परिवर्तित हो जाएगी।
PunjabKesari, Capricorn, मकर
इन राशियों के ऊपर लगेगी 2020 में शनि की साढ़ेसाती
धनु: ज्योतिष विद्वानों की मानें तो धनु राशि के जातकों को 2020 में अधिक सावधान रहने की ज़रूरत है। क्योंकि इन पर शनि की साढ़ेसाती का प्रभाव अधिक रहने वाला है। बता दें माना जा रहा है इस राशि पर शनि की साढ़ेसति अंतिम चरण पर है।

मकर: चूंकि नए साल में शनि का गोचर मकर राशि में ही हो रहा है। इसलिए इन्हें भी अधिक सावधान रहने की आवश्यकता है। कहा जा रहा है साल 2020 में इस राशि पर शनि की साढ़ेसाती दूसरे चरण में रहेगी।

कुंभ: अब बात करते हैं कुंभ राशि के जातकों की, नए साल यानि 2020 में इन्हें भी शनि की इस अवधि के दौरान सतर्क रहने की आवश्यकता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, कुंभ राशि के जातकों के ऊपर 2020 में शनि की साढ़ेसाती का प्रथम चरण शुरू हो रहा है। इसलिए अगले 5 वर्षों तक इन्हें फूंक-फूंककर कदम रखने की ज़रूरत है।
PunjabKesari, शनि देव, Shani dev, Shani, Saturn, Saturn transit in 2020


Jyoti

Related News