महाशिवरात्रि 2020: शिवलिंग के अलावा शिव जी का त्रिशूल भी हरता है सभी कष्ट

2020-02-21T11:28:08.42

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ
मस्तक सोहे ‪चन्द्रमा‬, गंग ‪‎जटा‬ के बीच,
श्रद्धा‬ से ‪‎शिवलिंग‬ को, निर्मल जल मन से सीच।

21 फरवरी, 2020 फाल्गुन माह की चतुर्दशी तिथि शुक्रवार यानि आज महाशिवरात्रि का पर्व मनाया जा रहा है। हर जगह इसकी धूम देखने को मिल रही है। देशभर के नहीं बल्कि दुनिया भर के शिवालयों में इस वक्त श्रद्धालुओं का जमावड़ा दिखाई दे रहा है। हर कोई बस शिव जी को रिझाने में लगा रहता है। शास्त्रों के अनुसार इस दिन शिवलिंग की पूजा करने से न केवल जीवन के कष्ट-क्लेश दूर होते हैं बल्कि देवों के देव महादेव की असीम कृपा प्राप्त होती है। यही कारण है कि इस दिन प्रत्येक व्यक्ति आशुतोष भगवान शंकर को प्रसन्न करने के लिए उनकी या उनके लिंग रूप यानि शिवलिंग की विधि-वत पूजा करते हैं। मगर क्या आप जानते हैं इस दिन न केवल शिवलिंग की ही नहीं बल्कि शिव जी से जुड़ी हर चीज़ की पूजा करने से लाभ प्राप्त होते हैं। इसी को ध्यान में रखते हुए हम आपको बताने वाले हैं शिव जी की त्रिशूल से संबंधित खास बातेें। इसके अलावा जानेंगे शिव जी से जुडी़ अन्य वस्तुओं के बारे में जिनकी पूजा-अर्चना करना आपके लिए लाभदायक साबित होगा।  
PunjabKesari, Trishul, त्रिशूल, महाशिवरात्रि 2020, Mahashivratri 2020, Mahashivratri, Mahashivratri 2020 puja vidhi, Mahashivratri Importance, Mahashivratri puja date 2020, Shivlinga, dharm, hindu religion, hindu shastra, lord shiva, bholenath
आमतौर पर सभी शिव भक्त रोज़ाना जैसे बन पड़ता है वैसे शिव जी की पूजा करते हैं। मगर महाशिवरात्रि के खास अवसर पर शिव भक्त विशेष तरीके से भोलेनाथ की आराधना करते हैं। आप में से शायद कुछ लोगों ने देखा बहुत से लोग हिंदू धर्म के इस महापर्व के दिन अपने घर में चंद्रमौली चिंतबरा का सबसे प्रिय अस्त्र त्रिशूल को घर में स्थापित करते हैं क्योंकि मान्यता है कि इससे कई तरह के लाभ प्राप्त होते हैं। जयोतिष शास्त्र की मानें तो इसे घर में रखने से सुख-शांति के साथ-साथ  जीवन में सकारात्मकता का निवास होता है।

जानें घर में कहां और कैसे स्थापित करें शिव जी का त्रिशूल-
माना जाता है महाशिवरात्रि के घर के पूजा स्थल में त्रिलोकीनाथ शिव जी की पूजा के उपरांत त्रिशूल का भी पंचोपचार पूजन करना चाहिए। शास्त्रों के अनुसार जिस घर में शिव जी का त्रिशूल स्थापित होता है वहां की समस्याएं स्वतः ही दूर होने लगती हैं। घर में भगवान शिव का प्रिय त्रिशूल स्थापित करने से हर प्रकार की बुरी शक्तियों का नाश होता है। घर में बच्चों के कमरे में डमरू रखने से जीवन सरल, सात्विक व संगीतमय बनता है।

ज्योतिष शास्त्र में बताए कुछ खास उपायों के अनुसार अगर घर का मुखिया महाशिवरात्रि पर अपने हाथों से स्वयं पूजा स्थल में पवित्र रुद्राक्ष को स्थापित करता है तो घर में किसी भी तरह बुरी शक्ति का प्रवेश नहीं होता और घर में सकारात्मक ऊर्जा बनी रहती है। वास्तु की दृष्टि से भी उस उपाय को काफ़ी लाभकारी माना गया है। 
PunjabKesari, Trishul, त्रिशूल, महाशिवरात्रि 2020, Mahashivratri 2020, Mahashivratri, Mahashivratri 2020 puja vidhi, Mahashivratri Importance, Mahashivratri puja date 2020, Shivlinga, dharm, hindu religion, hindu shastra, lord shiva, bholenath
अगर आप शिव जी के भक्त हैं तो ध्यान रखें कि आपके घर में भस्म ज़रूर हो। इसके अलावा घर के किचन में गंगाजल और तिज़ोरी में चांदी या तांबे का नंदी ज़रूर रखें, इससे धन का अभाव बिल्कुल खत्म हो जाएगा और घर के लोगों में आपसी मतभेद भी समाप्त हो जाएगा।  

कहा जाता है भगवान शिव बिल्व पत्र के पौधे में स्वयं निवास करते हैं। इसलिए कहा जाता है घर के आस-पास इस पौधे का होने शुभम माना जाता है। अगर ऐसा न हो पाए घर के मुख्य दरवाज़े के पास चांदी या तांबे के नाग स्थापित कर सकते हैं। 
PunjabKesari, Trishul, त्रिशूल, महाशिवरात्रि 2020, Mahashivratri 2020, Mahashivratri, Mahashivratri 2020 puja vidhi, Mahashivratri Importance, Mahashivratri puja date 2020, Shivlinga, dharm, hindu religion, hindu shastra, lord shiva, bholenath


Jyoti

Related News