Karwachauth 2021: इस करवाचौथ सूर्यदेव से भी मिलेगा आशीष!

10/22/2021 3:42:42 PM

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ
आश्विन मास जैसे ही समापत होता है कार्तिक मास का प्रांरभ हो जाता है, जिसके साथ ही हिंदू धर्म में प्रमुख माने जाने वाले पर्व व त्यौहारों का सिलसिला शुरू हो जाता है। 21 अक्टूबर से इस वर्ष के कार्तिक मास का आरंभ हो चुका है। जिसके बाद सबसे पहला जो बड़ा त्यौहार मनाया जाता है वो है करवाचौथ का व्रत। इस वर्ष ये त्यौहार 24 अक्टूबर दिन रविवार को पड़ रहा है। हिंदी पंचांग के अनुसार कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि तो ये व्रत पड़ता है, जिस दिन खासरूप से विवाहित महिलाएं अपने पति के लंबी उम्र के लिए निर्जला व्रत रखती हैं। वैसे तो ये पर्व अपने आप में अधिक महत्व रखता है। परंतु ज्योतिष शास्त्र के अनुसार जब किसी पर्व के दिन ग्रहों और नक्षत्रों का प्रभाव पड़ जाता है तो वो दिन अपने आप में और भी महत्वपूर्ण हो जाता है। तो आइए जानते हैं कि इस वर्ष करवाचौथ पर ग्रहों और नक्षत्रों के शुभ प्रभाव से कौन से शुभ योग पैदा हो रहे हैं। 

करवा चौथ पर बन रहे शुभ योग
ज्योतिष शास्त्र के अनुसार पति की लंबी उम्र की कामना के लिए रखा जाने वाला महाव्रत करवा चौथ पर इस बार बेहद अच्छे संयोग बन रहे हैं। बताया जाता है खास बात यह है कि इस बार लगभग 5 साल बाद करवा चौथ पर शुभ योग बन रहे हैं। विशेषज्ञों का मानना है कि करवा चौथ पर इस बार रोहिणी नक्षत्र लगेगा जिसके उपलक्ष्य में रोहिणी नक्षत्र में ही पूजन किया जाएगा। इसके अलावा चूंकि इस दिन रविवार है इसलिए व्रती सुहागनों को सूर्यदेव का आशीर्वाद प्राप्त होगा।

माना जाता है कि खासतौर पर सुहागिनों के लिए यह करवा चौथ अखंड सौभाग्य देने वाला होता है। करवा चौथ के दिन मां पार्वती, भगवान शिव, कार्तिकेय एवं गणेश सहित शिव परिवार का पूजन किया जाता है। सुहागिन महिलाएं अखंड सौभाग्य की कामना के लिए मां पार्वती की पूजा करती हैं। इस दिन करवे में जल भरकर कथा सुनी जाती है। महिलाएं सुबह सूर्योदय से लेकर चंद्रोदय तक निर्जला व्रत रखती हैं और चंद्र दर्शन के बाद व्रत खोलती हैं।

करवा चौथ की पूजा का शुभ मुहूर्त-
शाम 6:55 से शाम 8:51 बजे तक ज्योतिष विशेषज्ञ के अनुसार इस बार अत्यंत शुभ रोहिणी नक्षत्र में चांद निकलेगा और पूजन होगा। 
कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि इस साल 24 अक्टूबर 2021, रविवार सुबह 3 बजकर 1 मिनट पर शुरू होगी 
जो अगले दिन 25 अक्टूबर को सुबह 5 बजकर 43 मिनट तक रहेगी। 
इस दिन चांद निकलने का समय 8 बजकर 11 मिनट पर है। कहीं कहीं यह 8 बजकर 07 मिनट है। 
पूजन के लिए शुभ मुहूर्त 24 अक्टूबर 2021 को शाम 05:43 से लेकर 06:59 तक रहेगा।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Jyoti

Related News

Recommended News