16 जुलाई को चंद्रमा की कर्क राशि में आ रहे हैं सूर्य, ये राशियां रहने वाली हैं Lucky!

2021-07-15T11:23:03.73

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ
ज्योतिष में आत्मा का कारक माने जाने वाले सूर्य 16 जुलाई को शाम 04 बजकर 41 मिनट पर बुध की मिथुन राशि से निकलकर चंद्रमा की  कर्क राशि में प्रवेश करेंगे। कर्क राशि में सूर्य 17 अगस्त  तक रहेंगे। कर्क राशि सूर्य की मित्र राशि है । सूर्य  ऐसा ग्रह है जो कभी वक्री गति नहीं करता। जिस व्यक्ति की कुंडली में सूर्य मजबूत स्थिति में होता है,  उसे समाज में मान-सम्मान और समृद्धि की प्राप्ति होती है। सूर्य का राशि परिवर्तन का सभी राशियों पर असर पड़ता है। 12 राशियों में से 5 राशियों के लिए सूर्य का राशि परिवर्तन बेहद खास रहने वाला है और इन राशि वालों के जीवन में खुशियां भी आएंगी और कैरियर में आगे बढ़ने के कई नए मौके  भी मिलेंगे। ये 5 भाग्यशाली राशियां हैं- मेष राशि, कर्क राशि, कन्या राशि, तुला राशि व वृश्चिक राशि।

बात करें मेष राशि की तो सूर्य राशि परिवर्तन के दौरान मेष राशि वालों को शुभ समाचार प्राप्त हो सकता है।  कुछ जातकों को पैतृक संपत्ति का लाभ मिल सकता है।  मान-सम्मान भी बढ़ेगा। प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों को अच्छे परिणाम प्राप्त हो सकते हैं। सरकारी क्षेत्र से जुड़े लोगों के लिए समय उत्तम है। इस दौरान किसी नए काम की शुरुआत के लिए समय अनुकूल रहेगा।

कर्क राशि वालों को कार्यस्थल में तरक्की देखने को मिल सकती है।  कारोबार से जुड़े लोगों के लिए ये समय अच्छा है। इस दौरान आपका आत्मविश्वास बढ़ेगा। पारिवारिक वातावरण खुशहाल रहेगा। सूर्य की दृष्टि आपको प्रसिद्धि और सम्मान दिलाएगी। स्वास्थ्य के लिहाज से भी कर्क राशि के जातकों के लिए यह समय अनुकूल रहेगा। 
 
कन्या राशि वालों के लिए सूर्य का राशि परिवर्तन आर्थिक मोर्चे पर शुभ साबित हो सकता है। वाहन सुख की प्राप्ति हो सकती है। मान-सम्मान में वृद्धि होगी। व्यापारियों को मुनाफा हो सकता है।

तुला राशि वालों के लिए सूर्य का गोचर  शुभ परिणाम लेकर आएगा। करियर में आपको नए अवसरों की प्राप्ति हो सकती है। कार्यक्षेत्र में नाम और तरक्की हासिल करने के अवसर मिलेंगे। व्यापारियों को लाभ हो सकता है। भाग्योदय हो सकता है। सरकारी नौकरी की तलाश कर रहे लोगों को शुभ समाचार मिल सकता है।

वृश्चिक राशि वालों के लिए भी सूर्य का राशि परिवर्तन  शुभ परिणाम लेकर आएगा। इस दौरान लंबे समय से अटके आपके काम पूरे होंगे। गोचर काल में आपका आत्मविश्वास और इच्छाशक्ति बढ़ेगी। इस दौरान आप सही निर्णय ले सकेंगे।

सूर्य के कर्क राशि में गोचर के दौरान इन चार राशियों को सतर्क रहने की जरूरत है-

वृषभ राशि वालों के खर्चों में वृद्धि हो सकती है। आपको अपने व्यवहार में सुधार लाना होगा वरना जीवनसाथी के साथ आपके रिश्ते में बाधा आ सकती है।

सिंह राशि वालों को स्वास्थ्य संबंधी कोई परेशानी आ सकती है या किसी संक्रमण का शिकार हो सकते हैं। अपनी सेहत का खास खयाल रखना होगा।  किसी नए प्रोजेक्ट में इन्वेस्टमेंट करने के लिए समय आप के पक्ष में नहीं है लेकिन साझेदारी में किये जा रहे कामों से आपको लाभ मिल सकता है।  

मकर राशि वालों के लिए सूर्य का यह गोचर कुछ शारीरिक समस्याएं ला सकता है। व्यावसायिक रूप से धैर्य से काम लें। अचानक धन लाभ भी संभव है। वैवाहिक जीवन अच्छा रहेगा और सामाजिक स्थिति में भी सुधार आएगा। 

कुंभ राशि वालों को सूर्य के इस गोचर के दौरान थोड़ा चौकस रहना होगा और वाद विवाद से बचना होगा। परिवार के सदस्यों के बीच कुछ मनमुटाव हो सकता है। व्यवसाय में लाभ होने की संभावना है क्योंकि आपको भाग्य का साथ मिलेगा। ऑफिस में आपके काम की प्रशंसा होगी। किसी खास परियोजना में सफलता प्राप्त कर सकते हैं। 

इसके अलावा सूर्य का कर्क राशि में गोचर 3 राशियों मिथुन राशि, धनु राशि व मीन राशि के लिए सामान्य रहेगा।

16 जुलाई को सूर्य के राशि परिवर्तन से कर्क सक्रांति  भी होगी। इस दिन विधिपूर्वक  सूर्य की साधना करने से शुभ फल मिलते हैं। सूर्यदेव की पूजा के लिए सूर्योदय से पूर्व उठकर स्नान करें। इसके पश्चात् उगते हुए सूर्य का दर्शन करते हुए उन्हें ॐ घृणि सूर्याय नम: कहते हुए जल अर्पित करें। सूर्य को दिए जाने वाले जल में लाल रोली, लाल फूल मिलाकर जल दें। सूर्य को अर्घ्य देने के पश्चात्प लाल आसन में बैठकर पूर्व दिशा में मुख करके सूर्य के मंत्र का कम से कम 108 बार जप करें।  सूर्य पूजा के समय लाल कपड़े पहनने चाहिए। पूजा सामग्री में लाल चंदन, लाल फूल और तांबे के बर्तन का उपयोग करना चाहिए। पूजा के बाद कर्क संक्रांति पर दान का संकल्प लिया जाता है। इस दिन खासतौर से कपड़े, अनाज और जल का दान किया जाता है।

स्नान-दान का महत्व : 
कर्क संक्रांति के दिन पवित्र नदी, जलकुंड में स्नान करने एवं दान देने का भी बड़ा महत्व है। इस दिन ब्राह्मणों, गरीबों और जरूरतमंदों को दान देने से भगवान सूर्य प्रसन्न होते हैं। सूर्यदेव के आशीर्वाद से जीवन में संपन्नता, समाज में मान-सम्मान, उच्च-पद प्रतिष्ठा प्राप्त होता है। बता दें 16 जुलाई को सूर्य कर्क राशि में आएंगे और जिस कारण इसे कर्क सक्रांति के नाम से जाना जाएगा। 

गुरमीत बेदी 
gurmitbedi@gmail.com


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Jyoti

Recommended News