गणेश चतुर्थी: आज इन राशियों को मिलेगा श्री गणेश का आशीर्वाद

11/16/2019 8:29:14 AM

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ

मेष- चू,चे,चो, ला,ली,लू,ले,लो,अ
मित्रों, कामकाजी साथियों, कारोबारी पार्टनर्ज का रवैया पॉजीटिव तथा सुपोर्टिव रहेगा, शत्रु कमजोर रहेंगे, मगर फैमिली फ्रंट पर तनातनी रहेगी।

वृष- ई,उ,ए,ओ,वा,वी,वु,वे,वो 
सितारा धन लाभ वाला, एग्रीकल्चरल प्रॉडक्ट्स, एग्रीकल्चरल इंस्ट्रूमैंट्स, फर्टीलाइजर्स का काम करने वालों को अपने कामों में लाभ मिलेगा।

मिथुन- क,की,कु,घ,छ,के,को,ह
व्यापारिक तथा कामकाजी दशा अच्छी, यत्नों-प्रोग्रामों में कामयाबी मिलेगी, मगर फैमिली फ्रंट पर कुछ तनातनी, खींचातनी रह सकती है, ध्यान से रहेें।

कर्क- हि,हे,हु,हो,डा,डी,डू,डे,डो
उलझनों-झमेलों के कारण किसी काम के लिए आपका बढ़ता कदम रुक सकता है, इसलिए हल्के-फुल्के अंदाज से कोई काम न करना ठीक रहेगा।

सिंह- मा,मी,मू,मे,मो,टा,टी,टु,टे 
सितारा व्यापार-कारोबार में लाभ वाला, कारोबारी टूरिंग भी लाभप्रद, तेज प्रभाव-दबदबा बना रहेगा, मगर घटिया साथियों से नुक्सान का भय रहेगा।

कन्या- टो,पा,पी,पू,ष,ण,ठे,पे,पो
राजकीय काम हाथ में लेने पर बेहतर नतीजा बरामद होने की आशा, बड़े लोग मेहरबान, साफ्ट, कंसिडरेट रहेंगे, शत्रु आपकी गिरफ्त में रहेंगे।

तुला- रा,री,रू,रे,रो,ता,ती,तू,ते
रिलीजियस कामों में रुचि, यत्न करने पर किसी उलझे-रुके काम में कोई कम्पलीकेशन हट सकती है, आमतौर पर भी आप दूसरों पर प्रभावी रहेंगे।

वृश्चिक- तो,ना,नी,नू,ने, यो,या,यि,यु
सितारा पेट के लिए ठीक नहीं, खानपान में संभल-संभाल रखनी चाहिए, लिखत-पढ़त या लेन-देन के काम एहतियात के साथ करने चाहिएं।

धनु- ये,यो,भा,भी,भू,धा,फ,ढ,भे
अर्थ तथा कारोबारी दशा अच्छी, कोशिशों-इरादों में कामयाबी मिलेगी, हर मामले को दोनों पति-पत्नी एक ही नजर से देखेंगे, मगर स्वभाव में गुस्सा।

मकर- भो,जा,जी,जू,खि, खा,खु, खो, गा,गि
विरोधी आपको घेरने या नुक्सान पहुंचाने के लिए पूरी तरह से एक्टिव रहेंगे, इसलिए उनसे डिस्टैंस रखें, मगर आम हालात पहले जैसे बने रहेंगे।

कुम्भ- गू,गे,गो,सा,सी,सू,से,सो,द
आमतौर पर स्ट्रांग सितारा आपको हर तरह से हावी, प्रभावी, विजयी रखेगा। संतान भी सहयोगी-सुपोर्टिव रुख रखेगी, मान यश की प्राप्ति।

मीन- दा,दु,थ,झ,दे,दो,चा,चि
सितारा प्रापर्टी के काम संवारने तथा बेहतरी की राहें खोलने वाला, प्रभाव-दबदबा बना रहेगा, मगर मन तथा तबीयत भी किसी कारण या बे-कारण अशांत-डिस्टर्ब रहेगी।


Niyati Bhandari

Related News