आपका राशिफल- 22 सितंबर, 2019

9/22/2019 9:13:43 AM

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ
आज रविवार ता॰ 22.09.19, अश्विन कृष्ण अष्टमी पर चंद्र मिथुन राशि में व आर्द्रा नक्षत्र का योग बन रहा है। इसके अलावा हिंदू धर्म में प्रमुख माने जाने वाला जितिया व्रत का प्रारंभ हो रहा है। जो इस बार पूरे दो दिन मनाया जाएगा। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार ये व्रत संतान प्राप्ति व संतान की लंबी उम्र के लिए किया जाता है। बता दें कुछ किंवदंतियों के मुताबिक  इस जीवितपुत्रिका व्रत भी कहा जाता है। वैसे तो  हर साल आश्विन मास की अष्टमी के दिन निर्जला जितिया व्रत रखा जाता है। साधारण तौर पर हर वर्ष ये व्रत तीन दिनों का होता है। जिसमें सप्तमी का दिन नहाय खाय के रूप में मनाया जाता है, अष्टमी को निर्जला उपवास रखा जाता है, फिर नवमी के दिन व्रत का पारण होता है। जितिया व्रत को लेकर एक मत चन्द्रोदयव्यापिनी अष्टमी का पक्षधर है तो दूसरा सूर्योदयव्यापिनी अष्टमी का। मगर इस बार इस व्रत की 21 सितम्बर दिन शनिवार को अष्टमी अपराह्न 3.43 से प्रारम्भ हो जाएगी और 22 सितम्बर, रविवार को अपराह्न 2.49 तक रहेगी। इसके अलावा पंडित कमल नंदलाल से अपना आज का राशिफल जानने के लिए यहां क्लिक करें।

भाग्यांक- 7
शुभरंग- स्लेटी
शुभदिशा- पूर्वोत्तर
राहुकाल- 16:44 से 18:15
गोधूलि बेला- 18:15 से 19:50
विशेष- महालक्ष्मी व्रत संपूर्ण व जीवितपुत्रिका व्रत। 

स्पेशल: आजप्रदोष व्यापिनी अष्टमी पर महालक्ष्मी व्रत की पूर्णाहुति करके जीवितपुत्रिका व्रत करते हैं। इस दिन सन्तानलक्ष्मी के विशेष पूजा करते है। आज के उपायों से मान सम्मान मिलेगा, बेरोज़गारी से मुक्ति मिलेगी, संतान की सुरक्षा होगी, अटूट धन की प्राप्ति होगी

विशेष उपाय: देवी संतान लक्ष्मी का विधिवत पंचोपचार पूजन करें। लाल चंदन की माला से विशेष मंत्र ह्रीं श्रीं क्लीं सन्तानलक्ष्म्यै नमः का जाप करें, देवी महालक्ष्मी पर कमलगट्टे चढ़ाकर तिज़ोरी में स्थापित करें। मान सम्मान में वृद्धि होगी। 

बर्थडे विशेष: महालक्ष्मी पर चढ़ा सिक्का पर्स में रखें, बेरोज़गारी से मुक्ति मिलेगी।

एनिवर्सरी विशेष: दंपत्ति महालक्ष्मी पर लाल रंग की चुनरी चढ़ाएं, संतान की सुरक्षा होगी।

आज का विशेष उपाय: देवी महालक्ष्मी कमल का फूल चढाएं, अटूट धन की प्राप्ति होगी।


Jyoti

Related News