गुरुपर्व पर नहीं निकाला जाएगा नगर कीर्तन

2020-11-21T08:26:07.08

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ

नई दिल्ली (नवोदय टाइम्स) : गुरु नानक देव जी का प्रकाश पर्व 30 नवम्बर को मनाया जाएगा, लेकिन इस बार आयोजन का स्वरूप बदला जा रहा है। कोरोना के चलते इस बार नगर कीर्तन नहीं निकाला जाएगा। दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधन कमेटी में धर्म प्रचार के चेयरमेन जतिंद्रपाल सिंह गोल्डी ने बताया कि कोविड महामारी के चलते आयोजन में इस बार कुछ प्रमुख बदलाव किए गए हैं। कमेटी और सिंह सभाओं ने बैठक कर तय किया है कि इस बार नगर कीर्तन नहीं निकाला जाएगा।

उन्होंने कहा कि दिल्ली में कोरोना की स्थिति को देखते हुए यह काफी जरूरी भी था। हालांकि गुरुपर्व के मौके पर सभी एतिहासिक गुरुद्वारों में कीर्तन-कथा पूर्व की तरह आयोजित की जाएंगी। उन्होंने कहा कि इस समय महामारी का दौर चल रहा है कि ऐसे में हम सभी की जिम्मेदारी है कि संक्रमण को फैलने से रोकने में अपना सहयोग दें। कमेटी अपने जिम्मेदारियों को बखूबी समझती है, इसीलिए इस बार नगर कीर्तन नहीं निकालने का निर्णय लिया गया है।

गोल्डी ने बताया कि बेशक नगर कीर्तन नहीं निकाला जाएगा, लेकिन 30 नवम्बर को बंगला साहब गुरुद्वारा में भव्य कथा-कीर्तन का आयोजन किया जाएगा। यह बहुत ही खास होने वाला है। इसके लिए दिल्ली से बाहर के रागियों को भी बुलाया गया है। सुबह 5 बजे से रात 12 बजे तक कथा-कीर्तन का कार्यक्रम चलता रहेगा। सिंह साहब ज्ञानी राणजीति सिंह गौहर ए मस्कीन जी जत्थेदार तखत श्री पटना साहब कथा करेंगे। जबकि कीर्तन के लिए राविंद्र सिंह  दरबार साहब,  हरजौत सिंह जख्मी जालंधर, चमनजीत सिंह दिल्ली वाले, अरशदीप सिंह  लुधियाना के जत्थों की तरफ से कीर्तन किया जाएगा।

 


Niyati Bhandari

Recommended News