See More

भोलेनाथ के इस मंदिर में मिलता पाप मुक्ति का Certificate, घर बैठें करें दर्शन

2020-05-14T20:31:52.52

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ
हमारे देश में ऐसे बहुत से मंदिर हैं, जिनसे जुड़ा रहस्य बहुत ही अद्भुत व लाजवाब है। जी हां, आप सही समझ रहे हैं आज हम आपको एक ऐसे ही मंदिर के बारे में जानकारी देने वाले हैं। जिससे जुड़ी मान्यताएं बहुत ही अलग व अद्भुत मानी जाती है। बता दें ये मंदिर देवों को देव महादेव को समर्पित है। जिससे जुड़ी ऐसी प्रचलित किंवदंति है जिसके बारे में जानकर शायद आप लोग हैरान हो जाएंगे।
PunjabKesari, Gautameshwar Mahadev Temple, Gautameshwar Temple, Gautameshwar Shiv Temple, गौतमेश्‍वर शिव, गौतम ऋृषि, Dharmik Sthal, Religious Place in india, Hindu teerth sthal, धार्मिक स्थल
मगर इससे पहले कि हम आपको इस मंदिर के बारे में बताएं, आप से कुछ सवाल पूछते हैं। क्या आपको जीवन में किसी प्रकार का कोई सर्टिफिकेट मिला है? अब आप सोचेंगे भला ये कैसा प्रश्न है यकीनन प्रत्येक व्यक्ति अपने जीवन में किसी न किसी तरह का प्रमाण पत्र हासिल करता है, फिर हो बचपन में स्कूल से मिला चरित्र  का प्रमाण पत्र हो, शिक्षण संबंधो कोई पत्र या फिर किसी अन्य प्रतियोगिता में शामिल हो कर जीत का सर्टिफिकेट। मगर क्या आपको आपके पापों से मुक्ति का कोई प्रमाण पत्र मिला है आज तक?
PunjabKesari, Gautameshwar Mahadev Temple, Gautameshwar Temple, Gautameshwar Shiv Temple, गौतमेश्‍वर शिव, गौतम ऋृषि, Dharmik Sthal, Religious Place in india, Hindu teerth sthal, धार्मिक स्थल
हम जानते हैं आपको ये बात सुनने में थोड़ी अजीब लग रहो होगी। मगर बता दें जिस मंदिर की हम बात कर रहे हैं, वहां कुछ ऐसा ही होता है। जी हां, गौतमेश्‍वर शिव मंदिर से जुड़ी ऐसी ही मान्यता प्रचलित है कि यहां आने वाले लोगों को उनके पापों से न केवल मुक्ति मिलती है बल्कि कहा जाता है ये पाप मुक्ति का सर्टिफिकेट प्रदान करता है। बता दें शिव जी का ये अनोखा मंदिर राजस्‍थान के प्रतापगढ़ में स्‍थापित है।

महर्षि गौतम से शुरू हुई थी परंपरा-
पौराणिक कथाओं की मानें तो पौराणिक कथाओं के अनुसार सप्तऋषियों में से एक गौतम ऋृषि  पर एक बार गौहत्‍या का कलंक लग गया था। उस समय उन्होंने प्रतापगढ़ के इसी मंदिर में स्थित सरोवर में स्‍नान किया था।  कहा जाता है इसके बाद ही उन्‍हें गौहत्‍या के कलंक के मुक्ति मिल गई थी। मान्यता है इसके बाद से ही इस मंदिर का नाम गौतमेश्‍वर मंदिर पड़ा, इसके साथ ही कहा ये भी जाता है कि इस सरोवर में जो भी व्यक्ति स्‍नान करता है उसे पापों से मुक्ति मिलती है।
PunjabKesari, Gautameshwar Mahadev Temple, Gautameshwar Temple, Gautameshwar Shiv Temple, गौतमेश्‍वर शिव, गौतम ऋृषि, Dharmik Sthal, Religious Place in india, Hindu teerth sthal, धार्मिक स्थल
पुजारी देते हैं सर्टिफिकेट-
यहां आने वाले लोगों की मानें तो गौतमेश्‍वर शिव मंदिर के इस मोक्षदायिनी कुंड में स्‍नान करने के बाद पुजारी  पाप मुक्ति का सर्टिफिकेट देते हैं। तो वहीं स्‍थानीय निवासी बताते हैं कि आज भी यहां अगर कोई व्यक्ति जीव हत्या का साक्षी का होता है, या उसके किसी पाप कर्म के चलते उसे समाज में निषकासित कर दिया जाता है तो ऐसे में इस मोक्षदायिनी कुंड में डुबकी लगाने से भोलेनाथ के इस मंदिर में मिलता पाप मुक्ति का Certificate, घर बैठें करें दर्शनउनके सभी पाप माफ़ हो जाते हैं।


Jyoti

Related News