Gaur Gopal Das: जिंदगी आइसक्रीम भी है और मोमबत्ती भी, पिघलनी तो है ही

punjabkesari.in Tuesday, Jan 24, 2023 - 10:10 AM (IST)

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ

जयपुर (ब्यूरो): मोटिवेशनल स्पीकर गौर गोपाल दास ने जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल (जे.एल. एफ.) के अंतिम दिन फ्रंट लॉन में श्रोताओं को बहुत ही हल्के अंदाज में खूब हंसाया लेकिन बातों ही बातों में जिन्दगी जीने की सीख देते रहे। कभी उन्होंने आइसक्रीम का उदाहरण दिया तो कभी मोबाइल और सोशल मीडिया का। उन्होंने कहा कि जिस तरह से आइसक्रीम हम पिघलने से पहले खा लेते हैं उसी तरह हमें जिंदगी को पिघलने से पहले उसे एंज्वॉय करना चाहिए। गोपाल दास ने कहा कि मोमबत्ती भी पिघलती है, लेकिन वह खुद को पिघलाकर दूसरों की जिंदगी को रोशन करती है। हमें भी ऐसे ही दूसरों के लिए कुछ न कुछ करना होगा।

1100  रुपए मूल्य की जन्म कुंडली मुफ्त में पाएं। अपनी जन्म तिथि अपने नाम, जन्म के समय और जन्म के स्थान के साथ हमें 96189-89025 पर व्हाट्सएप करें

व्यक्ति को सिर्फ अपने बारे में नहीं सोचना चाहिए। गोपाल दास ने मोबाइल का उदाहरण देते हुए कहा कि बार-बार मोबाइल को हाथ में रखने से हाथ दर्द करने लगता है, लेकिन जब इसी हाथ को नीचे से दूसरा हाथ सपोर्ट करने लगता है तो दर्द बंट जाता है। कुछ इसी तरह का फलसफा जिंदगी का है। परेशान जल्दी होता है।

आज का यूथ : यूथ में आज की सबसे बड़ी परेशानी हताश होना है, इसका सबसे बड़ा कारण सोशल मीडिया भी है। सोशल मीडिया का अपना एक आनंद भी है, लेकिन यदि इसे सही तरीके से उपयोग में नहीं लाया जाए तो यह दुश्वार भी हो जाता है। सोशल मीडिया पर हम दूसरों की लाइफ देखते रहे तो तुलना वाली भावना आ जाती है और मन में हीन भावना आने लगती है। गौर गोपाल दास ने कहा कि आपका जीवन आपके सफर पर निर्भर करता है।

PunjabKesari kundli


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Niyati Bhandari

Related News

Recommended News