इस साल भी लगेंगे चार ग्रहण, कई राशियां होंगी प्रभावित!

punjabkesari.in Tuesday, Mar 08, 2022 - 01:27 PM (IST)

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ
पिछले साल की तरह वर्ष 2022 भी कई महत्वपूर्ण खगोलीय घटनाओं का साक्षी बनने जा रहा है। वर्ष 2021 में चार ग्रहण लगे थे जिनमें दो सूर्य ग्रहण और दो चंद्रग्रहण शामिल थे। इस साल भी यानी 2022 में भी चार ग्रहण लगने जा रहे हैं और संयोग ऐसा है कि इन चार ग्रहण में दो सूर्यग्रहण और 2 चंद्रग्रहण शामिल हैं। दिलचस्प बात यह भी है कि पहला सूर्यग्रहण और पहला चंद्रग्रहण 15 दिनों की अवधि के भीतर ही पड़ेगा और इसी तरह इस साल का दूसरा सूर्य ग्रहण और चंद्र ग्रहण भी 15 दिनों की अवधि के भीतर ही पड़ेगा। ज्योतिष में 15 दिनों की अवधि के भीतर लगातार दो ग्रहण लगना शुभ नहीं माना जाता। लेकिन इस साल दोनों बार सूर्यग्रहण और चंद्रग्रहण 15 दिन की अवधि के भीतर पढ़ रहे हैं इसलिए इनका देश-दुनिया पर भी व्यापक प्रभाव पड़ेगा।

PunjabKesari, Eclipse 2022, Sun Eclipse 2022, ग्रहण 2022, ग्रहण, Moon Eclipse 2022, Effects of Eclipse of 2022, Gurmeet Bedi Ji, Astrologer Gurmeet Bedi, Jyotish Shastra, Jyotish Gyan, Astrology in Hindi, Dharm, Punjab Kesari
बता दें इस साल यानि 2022 में ग्रहणों की शुरुआत 30 अप्रैल को होगी जब इस साल का पहला सूर्य ग्रहण लगेगा। दिलचस्प बात यह भी है कि सूर्य ग्रहण लगने के 15 दिन के बाद 16 मई को चंद्रग्रहण भी लगेगा। यानी 15 दिन के भीतर दो ग्रहण लगेंगे जिसका देश दुनिया पर भी प्रभाव पड़ेगा। इसी साल दूसरा सूर्य ग्रहण 25 अक्टूबर को दिवाली के अगले दिन पड़ेगा और दूसरा चंद्र ग्रहण 8 नवंबर 2022 को कार्तिक पूर्णिमा पर्व  पर पड़ेगा। यानी एक बार फिर 15 दिन के भीतर 2 ग्रहण लगेंगे।

सूर्य ग्रहण व चन्द्र ग्रहण का ज्योतिष में रुचि रखने वाले लोगों  व खगोल विज्ञानियों को बड़ी शिद्दत से इंतजार रहता है। सूर्य को ग्रहों का अधिपति भी कहा जाता है. यानि सूर्य सभी ग्रहों में एक राजा की हैसियत रखते हैं. यही कारण है कि सूर्य ग्रहण की घटना को ज्योतिषीय दृष्टि से महत्वपूर्ण खगोलीय घटना माना गया है।
 

अगर हम विज्ञान की दृष्टि से बात करें तो जब सूर्य व पृथ्वी के बीच में चन्द्रमा आ जाता है तो चन्द्रमा के पीछे सूर्य का बिम्ब कुछ समय के लिए ढक जाता है, इसी घटना को सूर्य ग्रहण कहा जाता है। पृथ्वी सूरज की परिक्रमा करती है और चाँद पृथ्वी की। कभी-कभी चाँद, सूरज और धरती के बीच आ जाता है। फिर वह सूरज की कुछ या सारी रोशनी रोक लेता है जिससे धरती पर साया फैल जाता है। इस घटना को सूर्य ग्रहण कहा जाता है। यह घटना सदा सर्वदा अमावस्या को ही होती है। इसी तरह जब पृथ्वी , सूर्य और चंद्रमा के बीच आ जाती है तो चंद्रमा पर पृथ्वी की छाया पड़ने लगती है। इस खगोलीय घटना को ही चंद्रग्रहण कहा जाता है।

आगे बताते चलें इस साल का पहला सूर्य ग्रहण आंशिक ग्रहण होगा जो वैशाख कृष्ण अमावस्या के दिन 30 अप्रैल शनिवार को दोपहर 12.15 से शुरू होकर शाम 04.07 बजे खत्म होगा। ये ग्रहण तकरीबन 4 घंटे का रहेगा। ये सूर्य ग्रहण भारत में नहीं दिखेगा, लेकिन उत्तरी और दक्षिणी अमेरिका, प्रशांत और अटलांटिक महासागर के दक्षिणी हिस्सों में ये ग्रहण देखा जा सकेगा। इसलिए इन जगहों पर इस ग्रहण का ज्यादा असर रहेगा।
PunjabKesari, Eclipse 2022, Sun Eclipse 2022, ग्रहण 2022, ग्रहण, Moon Eclipse 2022, Effects of Eclipse of 2022, Gurmeet Bedi Ji, Astrologer Gurmeet Bedi, Jyotish Shastra, Jyotish Gyan, Astrology in Hindi, Dharm, Punjab Kesari
पंचांग अनुसार ये ग्रहण वैशाख अमावस्या के दिन भरणी नक्षत्र और मेष राशि में लगेगा। खास बात ये है कि इस ग्रहण के समय सूर्य के साथ-साथ चंद्रमा भी मेष राशि में ही स्थित रहेगा। भारत में इस ग्रहण का नजारा भले ही देखने को नहीं मिलेगा लेकिन इसका प्रभाव सभी लोगों की लाइफ पर पड़ेगा।

इसी तरह 15 दिन के भीतर ही 16 मई सोमवार को इस साल का पहला चंद्र ग्रहण भी लगेगा । ये पूर्ण चंद्र ग्रहण होगा जो भारतीय समय के मुताबिक सुबह करीब 7.57 पर शुरू होगा और 11.25 पर खत्म हो जाएगा। तकरीबन साढ़े तीन घंटे का ये चंद्र ग्रहण पश्चिमी यूरोप, अफ्रीका के पूर्वी और मध्य क्षेत्रों में, दक्षिणी अमेरिका, अंटार्कटिका, अटलांटिक और प्रशांत महासागर में दिखाई देगा। भारत में यह चंद्रग्रहण दिखाई नहीं देगा। इसलिए ना तो 30 अप्रैल को पहले सूर्य ग्रहण में कोई सूतक काल मान्य होगा और ना ही पहले चंद्र ग्रहण में कोई सूतक लगेगा।

इसके अलावा बता दें साल 2022 का दूसरा सूर्य ग्रहण 25 अक्टूबर 2022 को कार्तिक कृष्ण अमावस्या पर स्वाति नक्षत्र तथा तुला राशि में लगेगा। ये सूर्य ग्रहण दीपावली के अगले दिन लगेगा जो भारत में भी दिखाई देगा। इसलिए इसका धार्मिक महत्व भी रहेगा। लेकिन दीपावली पर होने वाली लक्ष्मी पूजा पर इसका असर नहीं रहेगा। वहीं ये ग्रहण यूरोप, उत्तरी अफ्रीका, पश्चिम एशिया, उत्तरी अटलांटिक महासागर, उत्तरी हिंद महासागर में भी दिखाई देगा। भारतीय समय के मुताबिक ये आंशिक सूर्यग्रहण दोपहर करीब 02:28 पर शुरू होकर शाम 6:32 पर खत्म होगा। ये ग्रहण तकरीबन 4 घंटे का रहेगा।

दूसरे सूर्यग्रहण के 15 दिन के भीतर साल 2022 का  दूसरा चंद्र ग्रहण 8 नवंबर 2022 को  पड़ेगा। इस दिन कार्तिक पूर्णिमा पर्व भी होगा और यह चंद्र ग्रहण भारत में भी दिखाई देगा। इसलिए इसका धार्मिक महत्व भी रहेगा। लेकिन ये चंद्र ग्रहण भारत में दिन में ही शुरू हो जाएगा और चंद्रोदय होने के बाद थोड़ी देर में ही खत्म हो जाएगा। इसलिए रात में दीपदान और अन्य पूजा में रुकावट नहीं रहेगी। ये पूर्ण चंद्र ग्रहण भारतीय समय के मुताबिक दोपहर करीब 2:38 पर शुरू होगा और शाम 6:19 तक रहेगा। भारत के अलावा ये ग्रहण उत्तरी और दक्षिणी अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया, उत्तरी प्रशांत महासागर और हिंद महासागर में दिखाई देगा।
PunjabKesari, Eclipse 2022, Sun Eclipse 2022, ग्रहण 2022, ग्रहण, Moon Eclipse 2022, Effects of Eclipse of 2022, Gurmeet Bedi Ji, Astrologer Gurmeet Bedi, Jyotish Shastra, Jyotish Gyan, Astrology in Hindi, Dharm, Punjab Kesari

इस तरह जब साल 2022 में दो सूर्य ग्रहण और दो चंद्र ग्रहण का योग बनेगा तो सभी 12 राशियां इससे प्रभावित होंगी। हर ग्रहण का प्रभाव विभिन्न राशियों पर अलग अलग तरीके से पड़ेगा। इस बारे जब ग्रहण की तिथि नजदीक आएंगी तो विभिन्न राशियों पर इसके प्रभाव को लेकर विस्तृत चर्चा की जाएगी। 

गुरमीत बेदी 
gurmitbedi@gmail.com


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Jyoti

Related News

Recommended News