See More

रक्षा बंधन और भाई दूज में है क्या है अंतर, जानते हैं आप?

2020-07-31T14:35:16.947

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ
हिंदू धर्म की मानें तो साल के 365 दिन कोई न कोई त्यौहार मनाया जाता है। जिनका अपना अलग-अलग महत्व भी है। 3 अगस्त को इन्हीं में से एक त्यौहार मनाया जाएगा।  जी हां, आप सही समय रहे हैं हम बात कर श्रावण मास में पड़ने वाली भाद्रपद पूर्णिमा के दिन मनाए जाए वाले रक्षबंधन के त्यौहार की बात कर रहे हैं। इस त्यौहार को देश के कई हिस्सों में मनाया जाता है। मगर इस त्यौहार को लेकर एक कन्फ्यूजन है जो लगभग हर किसी को है। जो है, भाई दूज और रक्षा बंधन। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार ये दोनों त्यौहार भाई-बहन से जुड़े हुए हैं। तो चलिए अगर आपके दिमाग में भी ये सवाल है तो आपको बताते हैं भाई दूज और रक्षा बंधन के त्यौहार में क्या फर्क है। 
PunjabKesari, Raksha Bandhan 2020, Raksha Bandhan, Rakhi, रक्षा बंधन, राखी, Bhai Dooj, Difference Between Bhai Dooj Raksha Bandhan, Vrat or Tyohar, Dharmik Katha, Religious Story in hindi, Hindu Shastra, Hindu Religion, Katha in Hindi
सबसे पहले बता दें रक्षा बंधन का त्यौहार हिंदू धर्म के अनुसार श्रावण माह की पूर्णिमा को मनाया जाता है वहीं भाई दूज कार्तिक शुक्ल पक्ष की द्वितीया को मनाया जाता है। बता दें भाई दूज दीपावली के पांच दिनी महोत्सव का अंतिम दिन होता है। 

इन दोनों के बीच क्या है अंतर- 
धर्म शास्त्रों के अनुसार रक्षा बंधन का प्रारंभ इंद्र, राजा बली और श्रीकृष्ण के कारण हुआ था। तो अगर बात करें भाई दूज की तो इसका संबंध यमराज से, जिस कारण इस तिथि को यम द्वितीया भी कहा जाता है। 
PunjabKesari, Raksha Bandhan 2020, Raksha Bandhan, Rakhi, रक्षा बंधन, राखी, Bhai Dooj, Difference Between Bhai Dooj Raksha Bandhan, Vrat or Tyohar, Dharmik Katha, Religious Story in hindi, Hindu Shastra, Hindu Religion, Katha in Hindi
बहुत कम लोग जानते हैं कि रक्षा बंधन के दिन बहनों का खास महत्व होता है, इस दिन विवाहित बहनों को भाई अपने घर बुलाकर उससे राखी बंधवाते हैं तथा उन्हें उपहार देते हैं। जबकि भाई दूज के दिन बहनें अपने भाईयों अपने घर बुलाकर उन्हें तिलक लगाकर तथा आरती उतारकर उन्हें भोजन खिलाती हैं साथ ही उनकी सलामती की कामना करती हैं 

रक्षा बंधन के त्यौहार को संस्कृत में रक्षिका व रक्षा सूत्र बंधन के नाम से कहा जाता है, इसके विपरीत बात करें भाई दूज की तो संस्कृत में इसे भागिनी हस्ता भोजना कहा जाता है।
PunjabKesari, Raksha Bandhan 2020, Raksha Bandhan, Rakhi, रक्षा बंधन, राखी, Bhai Dooj, Difference Between Bhai Dooj Raksha Bandhan, Vrat or Tyohar, Dharmik Katha, Religious Story in hindi, Hindu Shastra, Hindu Religion, Katha in Hindi
प्रचलित परंपराओं के अनुसार रक्षा बंधन के दिन 'रक्षा सूत्र' मौली या कलावा बांधने की परंपरा है जबकि भाई दूज में ऐसा नहीं है, कहा जाता है भाई दूज किसी अन्य परंपरा से निकला त्यौहार नहीं है। रक्षा बंधन पर बहनें अपने भाई को राखी बांधती हैं जबकि भाई दूज पर सिर्फ तिलक लगाने की परंपरा प्रचलित है। 


 


Jyoti

Related News