Dharmik Concept in Hindi:- चाह से भरा हुआ आदमी कहलाता है भिखारी

punjabkesari.in Saturday, Apr 02, 2022 - 06:21 PM (IST)

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ
सूफी संत फरीद से उनके गांव वालों ने एक बार कहा कि गांव में स्कूल की जरूरत है। बादशाह तुम्हारी बात मानते हैं, इसलिए तुम उनसे कहो। फरीद ने कहा कि ठीक है जाऊंगा। फरीद सुबह के वक्त गए। उनके लिए कोई रोक-टोक नहीं थी। उन्हें सीधा महल में ले जाया गया। उस समय बादशाह खुदा को याद कर रहा था और दोनों हाथ उठाकर याचक की भांति परमात्मा से कुछ मांग रहा था।

फरीद तत्काल लौट पड़े। बादशाह की इबादत पूरी हो चुकी थी। किसी के लौटने की आवाज सुनकर उसने पूछा तो पता चला फरीद वापस लौट रहे हैं। बादशाह ने सोचा आज फरीद खुद चल कर आए हैं तो जरूर कोई खास बात होगी। वह फरीद के करीब जाकर बोले कि मुझसे कुछ भूल हुई क्या? 

फरीद ने कहा न भूल तुमसे हुई, न मुझसे।

दरअसल मैं तुमसे गांव के लिए एक स्कूल मांगने आया था, लेकिन देखा कि तुम खुद मांग रहे हो तो सोचा कि जिससे तुम खुद मांग रहे हो उसी से मैं भी मांग लूंगा। अब तक मैंने समझा था कि तुम एक सम्राट हो, लेकिन मेरी वह भ्रांति आज टूट गई और मुझे अहसास हो गया कि आपकी भी सीमा है। 

दरअसल, जब तक मांग है, तब तक कोई सम्राट नहीं है। जब तुम खुद मांगने वाले हो तो दोगे कैसे, और अगर दोगे भी तो वह सौदा होगा, कुछ पाने के लिए। तुम्हारे दान में कुछ पाने की आकांक्षा होगी। चाह से भरा हुआ आदमी भिखारी है।
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Jyoti

Related News

Recommended News