Rashi Parivartan: 22 अक्टूबर को मंगल बदल रहे हैं अपना घर

10/20/2021 6:26:23 PM

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ
हमारे नवग्रहों में सेनापति का दर्जा प्राप्त मंगल ग्रह 22 अक्टूबर को अपना राशि परिवर्तन करके शुक्र ग्रह की तुला राशि में आ रहे हैं, जहां पर वह 5 दिसंबर तक रहेंगे। मंगल ग्रह सौरमंडल में सूर्य से चौथा ग्रह है और  इसे "लाल ग्रह" के नाम से भी जाना जाता है। कुंडली में मंगल शुभ स्थान पर विराजमान हो तो राजयोग दिलाता है। यानी मंगल अगर आप पर मेहरबान हो तो जीवन में हर ओर मंगल ही मंगल होता है लेकिन कमजोर या अशुभ मंगल जिंदगी मे अमंगल का विष घोल देता है। वैसे तो मंगल ग्रह को ज्योतिष शास्त्र में एक क्रूर ग्रह माना गया है। लेकिन मंगल जब शुभ होते हैं तो व्यक्ति को साहसी और सेना, पुलिस जैसे क्षेत्रों में उच्च प्रदान करते हैं । वहीं जब अशुभ होते हैं तो व्यक्ति को क्रोधी बना देते हैं। 

मेष और वृश्चिक राशि के स्वामी मंगल व्यक्ति में साहस और आत्मविश्वास भी जगाते हैं। मकर राशि में मंगल उच्च के होते हैं जबकि कर्क राशि में यह नीच के हो जाते हैं।  22 अक्टूबर को मंगल ग्रह जब राशि परिवर्तन करके तुला राशि में आएंगे तो उनका सूर्य के साथ भी कंबीनेशन बनेगा क्योंकि सूर्य पहले से ही तुला राशि में आ चुके हैं और तुला राशि सूर्य की नीच राशि है। सौरमंडल के दो ताकतवर ग्रह एक साथ तुला राशि में होंगे। उनके इस गोचर का भी सभी राशियों पर असर पड़ेगा। 

मंगल को खासकर ऊर्जा और नेतृत्व का कारक ग्रह भी माना जाता है इसलिए तुला राशि में मंगल के प्रवेश से कुछ जातकों के करियर में इस दौरान अच्छे बदलाव देखने को मिलेंगे। इसके साथ ही वायु तत्व की राशि तुला में मंगल के गोचर से मौसम में ठंडक आ सकती है और मौसम परिवर्तन के चलते कई लोगों का मिजाज भी खुशनुमा हो सकता है। 6 राशियों के लिए तो मंगल का यह गोचर बात मंगलकारी रहने वाला है जबकि 3 राशियों को थोड़ा सतर्क रहना होगा। ये हैं वो राशियां- मेष राशि,  वृषभ राशि,  कर्क राशि, सिंह राशि, तुला राशि व मकर मीन राशि। 
 

गुरमीत बेदी
gurmitbedi@gmail.com


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Jyoti

Related News

Recommended News