हींग नहीं ये है जादू की पुड़िया, इस्तेमाल कर आप भी पाएं मनचाहे लाभ

12/7/2019 10:24:01 AM

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ
प्रत्येक व्यक्ति के जीवन को किसी न किसी प्रकार से संकटों ने घेरा होता है। इन संकंटों से बचने के लिए वो व्यक्ति हर तरह से कोशिश भी करता है। परंतु बहुत से लोग इन कोशिशों में सफल नहीं हो पाते। तो ऐसे में उसके मन में एक ही सवाल आता है कि इन संकटों से निजात कैसे पाई जाए। बता दें इन संकटों से हमेशा के लिए छुटकारा पाया जा सकता है। जी हां, ज्योतिष शास्त्र में एक ऐसी चीज़ के बारे में बताया गया है जिसे जादू की पुड़िया कहना गलत नहीं होगा। क्योंकि इस छोटी सी चीज़े में इतनी ताकत है आपके कार्य बाधा से लेकर आपके जीवन की नेगेटिविटी को पलों में दूर कर देता है।
PunjabKesari, Magic, जादू
मगर इसे इस्तेमाल करते समय कुछ खास बातों का ध्यान रखना अति आवश्यक होता है क्योंकि अगर इसके इस्तेमाल के दौरान इंसान से ज़रा सी भी भूल हो जाए तो इसके शुभ प्रभाव के बजाए अशुभ प्रभावों से गुज़रना पड़ता है। बता दें हम जिस चमत्कारी चीज़ की बात कर रहे हैं वो हैं हींग। जी हां, वहीं हींग जो सब्जी का स्वाद बढ़ाने के लिए उपयोग में लाई जाती है। मगर तंत्र शास्त्र में इसकी हींद के ऐसे ऐसे उपाय बताए गए हैं जिनका इस्तेमाल आपके लिए लाभदायक हो सकता है।

आइए जानें क्या है ये उपाय-
हींग फेरूला-
बताया जाता है फोइटिडा नामक पौधे के रस को सुखा कर हींग निर्मित की जाती है। इसके पौधे 2 से 4 फीट तक ऊंचे होते हैं। जिस व्यक्ति के जीवन में अगर संकटों से मुक्ति नहीं मिल रही हो तो अपने घर में हिंग के असरदार उपाय करें।

कार्य सफलता के लिए- चुटकी भर हींग अपने ऊपर से उतार कर या वार कर उत्तर दिशा में फेंक दें।

बाधा से मुक्ति के लिए- लहसुन के अर्क में हींग पीसकर एवं कपूर की टिक्की को पीसकर रस में मिलाकर दोनों आंखों में एक साथ काजल लगा दें। काजल लगाते समय 11 बार ॐ श्री हनुमते नमः मंत्र का जाप करें।
PunjabKesari, हनुमान मंत्र, Hanuman mantra
तांत्रिक दुष्प्रभाव से बचाव के लिए- हींग के पानी से कुल्ला करें। कहा जाता होली या पूर्णिमा के दिन ये उपाय करना अधिक असरकारक होता है। इसके अलावा हींग के पानी से स्नान करना चाहिए। ऐसा करने से कर्ज़ों से मुक्ति मिलती है।

नकारात्मकता से छुटकारे के लिए- 5 ग्राम हींग,  5 ग्राम कपूर तथा 5 ग्राम काली मिर्च को मिलाकर पाऊडर बना लें और फिर उस चूर्ण की राई के दाने बराबर गोलियां बनाकर इन्हें बराबर गोलियां में बांट लें। एक हिस्से को सुबह और दूसरे हिस्से को शाम के समय घर में जलाएं। इस तरह लगातार तीन दिनों तक करने से बुरी नज़र उतर जाती है और घर में किसी तरह की कोई बुरी शक्ति का निवास नहीं रहता।
PunjabKesari, Heeng, Asafoetida, हींग


Jyoti

Related News