ये चार चिन्ह होने पर भाग्यशाली कहलाता है व्यक्ति, क्या आप शरीर पर हैं ऐसे चिन्ह?

2021-02-17T14:57:11.797

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ
समुद्र शास्त्र में बताया गया है कि व्यक्ति के शरीर का हर छोटा-बड़ा निशान उसके व्यक्तित्व के कई राज बताता है। इसमें व्यक्ति के शरीर पर होने वाले कई प्रकार के चिन्हों का वर्णन भी किया गया। जैसे तिल, मस्सा, भंवन, चक्कर और लहसुन आदि। सामुद्रिक शास्त्र के मुताबिक व्यक्ति के शरीर में बहुतायत तिल होते हैं। तो वहीं मस्सों को भी शरीर में कई जगह देखा जा सकता। माना जाता है तिल और मस्से से तो लगभग हर कोई वाकिफ़ होता है। परंतु भंवर अथवा चक्कर एवं लहुसन से लोग कम अवगत होते हैं। समुद्र शास्त्र के अनुसार कहा जाता है भंवर जिसे चक्कर एवं लहुसन व्यक्ति के शरीर पर एक या दो ही होते हैं।

ये चार प्रकार के चिन्ह न केवल शरीर से संबंध रखते हैं बल्कि भाग्य से भी संबंध रखते हैं। भंवर के बारे में समुद्र शास्त्र में वर्णन है कि ये सिर के बालों के मध्य में पाए जाते हैं। हालांकि कुछ लोगों के सिर के ऊपर बिल्कुल सामने के बालों में भी भंवर पड़ते हैं। तो कहा ये भी जाता है कि ये शरीर में ज्यादा बाल होने पर अन्य स्थानों पर भी पाए जा सकते हैं।

लहुसन चिन्ह की बात करें कहा जाता है ये एक अलग रंग उभार लिए हरा लाल ब्राउन रंग का चिन्ह त्वचा पर कभी भी कहीं भी उभर सकता है। अक्सर इन्हें त्वचा से अलग रंग के कारण पहचाना जाता है।

ऐसा कहा जाता है कि इन चारों चिन्हों की पुरुष के शरीर के दाहिने हिस्से पर उपस्थिति होने से वह भाग्यशाली कहलाता है। इसके अलावा अगर किसी स्त्री के बाएं हाथ में ये चारों चिन्ह होते हैं तो वह भी अत्यंत भाग्यशालिनी मानी जाती है।

समुद्र शास्त्र में लिखा है-

तिल चकरी लहसुन मसा होइ दाहिने अंग,
जाहि बसै बन खंड में तौउ लक्ष्मी संग

अर्थात- जिस व्यक्ति के दाहिने भाग में तिल भंवर मस्सा और लहसन का चिन्ह होता है, वो व्यक्ति चाहे जंगल में जाकर क्यों न बस जाए, लक्ष्मी का साथ वहां भी उसके साथ रहता है।

 


Content Writer

Jyoti

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static