See More

मई में महज 2.81 लाख लोगों ने की हवाई यात्रा

2020-06-17T15:06:20.09

नई दिल्लीः घरेलू मार्गों पर दो महीने के अंतराल के बाद यात्री उड़ानें शुरू होने के बाद मई में दो लाख 81 हजार लोगों ने हवाई यात्रा की। कोविड-19 का संक्रमण रोकने के लिए दो महीने की रोक के बाद 25 मई से घरेलू यात्री उड़ानें दुबारा शुरू की गई थीं इसलिए महीने के दौरान सिर्फ अंतिम एक सप्ताह में उड़ानों का परिचालन हुआ। ऐसे में एक साल पहले की तुलना में इस साल मई के आंकड़ों में भारी गिरावट रही है। 

नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) के आंकड़ों के अनुसार, मई 2019 में घरेलू मार्गों पर एक करोड़ 21 लाख 87 हजार लोगों ने हवाई यात्रा की थी। इस प्रकार इस साल मई में इसमें 97.69 प्रतिशत की गिरावट देखी गई। उड़ानों पर प्रतिबंध के कारण इस साल जनवरी से मई के दौरान यात्रियों की संख्या तीन करोड़ 31 लाख 94 हजार रही है जो पिछले साल की समान अवधि के पांच करोड़ 86 लाख 34 हजार की तुलना में 43.39 प्रतिशत कम है। मई में विमानों में यात्रियों की संख्या भी काफी कम रही।

स्पाइसजेट, एयर इंडिया और इंडिगो को छोड़कर अन्य विमान सेवा कंपनियों की आधी से ज्यादा सीटें खाली रहीं। स्पाइसजेट का पैसेंजर लोड फैक्टर (पीएलएफ) 57.2 प्रतिशत, एयर इंडिया का 54 प्रतिशत और इंडिगो का 52.6 प्रतिशत रहा। एयर एशिया का पीएलएफ 46 प्रतिशत, विस्तारा का 44.1 प्रतिशत, स्टार एयर का 36.6 प्रतिशत और ट्रूजेट का 24.3 प्रतिशत रहा। डीजीसीए ने बताया कि यात्रियों की संख्या के लिहाज से मई में इंडिगो की बाजार हिस्सेदारी 50.6 प्रतिशत, एयर इंडिया की 17.1 प्रतिशत, स्पाइसजेट की 17.1 प्रतिशत, एयर एशिया की 7.8 प्रतिशत और विस्तारा की 6.5 प्रतिशत रही।
 


jyoti choudhary

Related News