राष्ट्रीय स्तर पर एक महीने के ‘लॉकडाउन' से जीडीपी में हो सकता है 2 प्रतिशत नुकसान: रिपोर्ट

2021-04-20T06:41:40.85

मुंबईः अमेरिकी ब्रोकरेज कंपनी बोफा सिक्योरिटीज ने सोमवार को आगाह करते हुए कहा कि भारत में राष्ट्रीय स्तर पर अगर एक महीने का ‘लॉकडाउन' लगाया जाता है तो जीडीपी (सकल घरेलू उत्पाद) में 2 प्रतिशत तक की गिरावट आ सकती है। ब्रोकरेज कंपनी ने उम्मीद जताई है कि कोविड महामारी को फैलने से रोकने के लिये स्थानीय स्तर पर ही ‘लॉकडाउन' लगाया जाएगा। 
PunjabKesari
बोफा सिक्योरिटीज के विश्लेषकों ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि एक महीने पहले कोविड के 35,000 मामले थे जो अब सात गुना बढ़कर 2.61 लाख से अधिक हो गए हैं। इससे जो अभी शुरूआती चरण का पुनरूद्धार था, उसके लिये जोखिम उत्पन्न हो गया है। रिपोर्ट के अनुसार, ‘‘यह देखने की बात है कि क्या कोविड-19 की दूसरी लहर राष्ट्रीय स्तर पर ‘लॉकडाउन' के बिना समाप्त होगी। 
PunjabKesari
राष्ट्रीय स्तर पर अगर एक महीने के लिए भी ‘लॉकडाउन' लगाया जाता है, जीडीपी को एक से दो प्रतिशत का नुकसान हो सकता है।'' इसमें कहा गया है, ‘‘उच्च आर्थिक लागत को देखते हुए, हमारा अनुमान है कि केंद्र और राज्य सरकारें कोविड-19 की रोकथाम से जुड़े नियमों (मास्क, उचित दूरी आदि) को कड़ाई से लागू कर, रात्रि कर्फ्यू और स्थानीय स्तर पर ‘लॉकडाउन' के जरिए इस पर अंकुश लगाने का प्रयास करेंगी।'' 
PunjabKesari
 


Content Writer

Pardeep

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static