कल से आम आदमी भी करेंगे डिजिटल रुपए में भुगतान, जानें यह कैसे काम करेगा

punjabkesari.in Wednesday, Nov 30, 2022 - 01:35 PM (IST)

बिजनेस डेस्कः भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने खुदरा स्तर पर डिजिटल रुपए का पायलट प्रोजेक्ट लॉन्च करने की घोषणा की है। आरबीआई ने मंगलवार को कहा कि वह 1 दिसंबर से रिटेल सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी (CBDC) के लिए पायलट प्रोजेक्ट लेकर आएगा। आरबीआई ने कहा कि डिजिटल रुपया एक डिजिटल टोकन के रूप में होगा, जो लीगल टेंडर यानी वैध मुद्रा होगी। आरबीआई ने कहा है कि वह एक दिसंबर को खुदरा डिजिटल रुपए (e₹-R) के लिए पहली खेप लॉन्च करेगी।

आरबीआई ने यह भी बताया कि डिजिटल रुपया उसी मूल्यवर्ग में जारी किया जाएगा जिसमें वर्तमान में कागजी मुद्रा और सिक्के जारी किए जाते हैं यानी नोट के मूल्‍य जितना ही डिजिटल रुपया भी होगा। आरबीआई ने कहा कि एक दिसंबर को बंद उपयोगकर्ता समूह (सीयूजी) में चुनिंदा जगहों पर यह परीक्षण किया जाएगा। इसमें ग्राहक एवं बैंक मर्चेंट दोनों शामिल होंगे।

डिजिटल वॉलेट के जरिए होगा लेनदेन

यूजर्स भागीदार बैंकों की ओर से पेश किए गए और मोबाइल फोन पर स्टोर डिजिटल वॉलेट के माध्यम से ई-आर (e₹-R) के साथ लेनदेन करने में सक्षम होंगे। आरबीआई ने कहा कि लेनदेन पर्सन टू पर्सन (P2P) और पर्सन टू मर्चेंट (P2M) दोनों हो सकते हैं। वहीं, व्यापारिक प्रतिष्ठानों पर क्यूआर कोड का उपयोग करके व्यापारियों को भुगतान किया जा सकता है।

क्या होगा डिजिटल रुपए का फायदा?

बैंकों को पैसा हस्तांतरित करने में आसानी, मुद्रा छापने का खर्च घटेगा, अवैध मुद्रा की रोकथाम, आसान टैक्स वसूली, काले धन व मनी लॉन्ड्रिंग पर लगाम लगेगी। ई-रूपी भरोसा, सुरक्षा, अंतिम समाधान जैसी खूबियों से लैस है। ई-रूपी उसी मूल्य पर जारी होगा, जिस पर वर्तमान में करेंसी नोट और सिक्के जारी होते हैं।  

ये चार बैंक होंगे शामिल

डिजिटल रुपए के खुदरा उपयोग के इस परीक्षण में भारतीय स्टेट बैंक और आईसीआईसीआई बैंक, यस बैंक, आईडीएफसी फर्स्ट बैंक शामिल होंगे। यह परीक्षण दिल्ली, मुंबई, बेंगलुरु और भुवनेश्वर में किया जाएगा। डिजिटल रुपए को बैंकों के माध्यम से वितरित किया जाएगा और उपयोगकर्ता पायलट परीक्षण में शामिल होने वाले बैंकों की तरफ से पेश किए जाने वाले डिजिटल वॉलेट के जरिए ई-रुपए में लेनदेन कर पाएंगे।

आरबीआई ने कहा कि यह डिजिटल रुपया परंपरागत नकद मुद्रा की ही तरह धारक को भरोसा, सुरक्षा एवं अंतिम समाधान की खूबियों से भी लैस होगा। नकदी की ही तरह डिजिटल रुपया के धारक को भी किसी तरह का ब्याज नहीं मिलेगा और इसे बैंकों के पास जमा के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है।

दूसरे चरण में इन शहरों में होगा लॉन्च

आरबीआई ने दूसरे चरण में कई शहरों में डिजिटल रुपये लॉन्च करने का प्लान बनाया है। इनमें अहमदाबाद, गंगटोक, गुवाहाटी, हैदराबाद, इंदौर, कोच्चि, लखनऊ, पटना और शिमला शामिल हैं। केंद्रीय बैंक ने कहा है कि पायलट लॉन्च का फीडबैक मिलने के बाद डिजिटल रुपया इकोसिस्टम के तहत दूसरे बैंकों और लोकेशंस की भी शामिल किया जाएगा।
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

jyoti choudhary

Related News

Recommended News