कोरोना का असरः Swiggy ने कर्मचारियों को दी राहत, हफ्ते में करेंगे 4 दिन काम

2021-05-04T18:13:11.467

बिजनेस डेस्कः कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए Swiggy ने अपने कर्मचारियों को एक बड़ी राहत दी। ऑनलाइन फूड डिलीवरी फर्म स्विगी ने घोषणा की है कि मई में उसके स्टाफ को हफ्ते में सिर्फ 4 दिन ही काम करना पड़ेगा। इसके साथ ही देश की प्रमुख फूड डिलीवरी एप ने अपने स्टाफ को यह भी सुविधा दी है कि वह हफ्ते में किन चार दिनों में काम करना चाहते हैं, इसका भी चुनाव वे खुद कर सकते हैं। स्विगी के एचआर हेड, गिरीश मेनन ने कर्मचारियों को भेजी एक ईमेल में यह जानकारी दी है।

यह भी पढ़ें- भारत की कोविड से लड़ाई में मदद के लिए आगे आई सैमसंग, देगी 50 लाख डॉलर  

गिरीश मेनन ने अपने स्टाफ को लिखे एक ईमेल में कहा, "स्विगी के स्टाफ ने काफी मेहनत की है और हम उनका सम्मान करते हैं। देश में कोरोना के बढ़ते केस को देखते हुए हमने मई में अपने स्टाफ के लिए 4 दिन का कामकाजी हफ्ता (four-day work week) रखने का फैसला किया है।" इस मेल में लिखा, "जैसा कि आप लोगों को पता है, हमने एक कोविड टास्क फोर्स (covid task force) बनाया है। हम और अधिक लोगों को इसमें शामिल कर बेहतर काम कर सकते हैं। अगर आप अपने ब्रेक के दिनों में कोविड टास्क फ़ोर्स में सेवा देना चाहते हैं तो आपका स्वागत है।" 

कंपनी ने कहा है कि देश में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। इस हिसाब से अपने स्टाफ को राहत पहुंचाना उसकी जिम्मेदारी है। स्विगी ने कहा है कि शारीरिक और मानसिक रूप से अपने स्टाफ का ध्यान रखने की जिम्मेदारियों के तहत उसने यह फैसला किया है।

यह भी पढ़ें- लॉकडाउन की वजह से Goldman Sachs ने भारत के वृद्धि अनुमानों को घटाया 

कोविड संकट के दौर में मदद
फूड डिलीवरी करने वाली देश की बड़ी कंपनी ने महामारी सपोर्ट मशीनरी और इमरजेंसी सपोर्ट टीम भी बनाई है। यह संकट के दौर में स्विगी के स्टाफ की मदद कर सकती है। इसके लिए एक एप डेवलप किया गया है जिसका नाम स्विगी शील्ड एप है। इसके साथ इम्पलॉई सपोर्ट के लिए एक हॉटलाइन भी शुरू किया गया है। कोविड19 सपोर्ट इंफ्रास्ट्रक्चर की मदद से कंपनी के स्टाफ अस्पताल के आईसीयू बेड, प्लाज्मा और ऑक्सीजन सिलेंडर के साथ एंबुलेंस सपोर्ट आदि की भी मदद ले सकते हैं। फूड डिलीवरी कंपनी ने इस तरह की इमरजेंसी सेवा के लिए अपने पार्टनर के नेटवर्क, स्वयंसेवक और हेल्थकेयर कंपनियों से साझेदारी की है।

यह भी पढ़ें- कोरोना का असरः भारत से यात्रा को लेकर अमेरिकी प्रतिबंध लागू, सिर्फ इनको मिलेगी छूट

इलाज का खर्च स्विगी उठाएगी
स्विगी ने अपने स्टाफ के लिए ऑनलाइन मेडिकल कंसल्टेशन और मेडिकल सपोर्ट की सुविधा भी शुरू की है। यह सुविधा उन स्टाफ के लिए है जो होम क्वारंटाइन में महामारी से रिकवरी की प्रक्रिया में हैं। इसमें स्विगी के स्टाफ को होम आइसोलेशन और या क्वारंटाइन केयर कवरेज जैसी सुविधा मिल रही है। स्विगी ने इस पर आने वाले खर्च को रीइंबर्स करने का भी फैसला किया है। इसके साथ ही अगर कंपनी के किसी स्टाफ या उनके परिजन को अस्पताल में दाखिल कराने की जरूरत पड़ती है तो वह खर्च भी कंपनी उठाएगी। स्विगी ने अपने स्टाफ या उनके परिजनों के लिए क्वारंटाइन की अवधि में जरूरी नर्सिंग सपोर्ट जैसी सुविधा भी उपलब्ध कराने का फैसला किया है। अगर स्विगी के 2 स्टाफ एक साथ रहते हैं और उनमें से कोई एक कोरोनावायरस पॉजिटिव पाया गया है तो दूसरे स्टाफ के लिए self-quarantine सुविधा की कंपनी की तरफ से दी जा रही है।


Content Writer

jyoti choudhary

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static