जेतली से मिले जेट एयरवेज के सीईओ, एक माह के वेतन के लिए मांगे 170 करोड़

4/20/2019 9:42:31 PM

नई दिल्लीः वित्तीय संकट के कारण ‘अस्थायी तौर पर' परिचालन बंद कर चुकी निजी विमान सेवा कंपनी जेट एयरवेज के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) विनय दूबे के नेतृत्व में कंपनी के प्रबंधन तथा कर्मचारियों के एक संयुक्त प्रतिनिधिमंडल ने गुरुवार को वित्त मंत्री अरुण जेतली से मुलाकात की और अंतरिम राहत के तौर पर कम से एक माह के वेतन के लिए नकदी उपलब्ध कराने की मांग की।
PunjabKesari
जेतली से यहां उनके आवास पर मिलने के बाद दूबे ने बताया कि उन्होंने वित्त मंत्री को एक ज्ञापन देकर कंपनी की स्थिति से अवगत कराया। साथ ही कंपनी की हिस्सेदारी बेचने की प्रक्रिया पूरी होने तक कर्मचारियों को अंतरिम राहत देने के लिए एक माह के वेतन की व्यवस्था करने की मांग की। उन्होंने बताया कि जेतली ने उन्हें इस संबंध में जेट एयरवेज का ऋणदाता बैंकों से बात करने का आश्वासन दिया जिन्होंने ऋण समाधान प्रक्रिया के तहत हिस्सेदारी बेचने के लिए बोली आमंत्रित की है। इस संबंध में तीन-चार दिन में स्थिति स्पष्ट होने की उम्मीद है।
PunjabKesari
दूबे ने मीडिया को बताया कि कर्मचारियों को एक महीने का वेतन देने के लिए कंपनी को 170 करोड़ रुपए की जरूरत है। उन्होंने कहा कि पायलटों को साढ़े तीन महीने से और अभियंताओं को तीन महीने से वेतन नहीं मिला है। कुछ कर्मचारी मजबूरी में कंपनी छोड़कर चले गए हैं।

हिस्सेदारी बिक्री प्रक्रिया पूरी होने के बाद एयरलाइंस का परिचालन शुरू करने के लिए कर्मचारियों को कंपनी छोड़ने से रोकने के उपाय करना जरूरी है क्योंकि कर्मचारियों से ही एयरलाइंस है। इस बैठक में कुछ देर के लिए नागरिक उड्डयन सचिव प्रदीप सिंह खरोला, महाराष्ट्र के वित्त मंत्री सुधीर मुंगानतिवर और कर्मचारी संगठनों के प्रतिनिधि भी शामिल थे।

 


Pardeep

Related News