अनिल अंबानी की इस कंपनी ने किया डिफॉल्ट, HDFC और एक्सिस बैंक के लोन चुकाने में रही नाकाम

2020-12-01T14:13:49.113

बिजनेस डेस्कः कर्ज में डूबे उद्योगपति अनिल अंबानी की मुश्किलें और बढ़ सकती हैं। उनकी फाइनेंस कंपनी रिलायंस कैपिटल ने हाउसिंग डेवलपमेंट फाइनेंस कॉरपोरेशन (HDFC) और ऐक्सिस बैंक के टर्म लोन को डिफॉल्ट कर दिया है। कंपनी समय से किश्तें चुकाने में नाकाम रही है। कंपनी ने बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) को यह जानकारी दी है। कंपनी ने बताया कि 31 अक्टूबर, 2020 तक वह एचडीएफसी के 4.77 करोड़ रुपए के ब्याज भुगतान और एक्सिस बैंक के 71 लाख रुपए के ब्याज भुगतान को चुकाने में नाकाम रही है। हालांकि कंपनी का कहना है कि उसने इन दोनों देनदारों की मूलधन राशि चुका दी है।

PunjabKesari

यह भी पढ़ें- LPG गैस से लेकर बैंकों के लेनदेन तक आज से बदले कई नियम, चलाई जाएंगी ये नई ट्रेनें

क्या कहा कंपनी ने 
कंपनी का कहना है कि वह कर्ज की किश्त चुकाने में इस वजह से नाकाम रही क्योंकि दिल्ली और बॉम्बे हाईकोर्ट तथा डेट रिकवरी ट्राइब्यूनल ने उसके एसेट बेचने पर रोक लगाई है। रिलायंस कैपिटल ने बताया है, 'कंपनी अपने एसेट को बेचकर राशि जुटाने की प्रक्रिया को आगे नहीं बढ़ा पा रही जिसकी वजह से कर्ज चुकाने में देरी हो रही है। दिल्ली हाईकोर्ट, बॉम्बे हाई हाईकोर्ट और डेट रिकवरी ट्राइब्यूनल द्वारा लगाई गई रोक की वजह से ऐसा हो रहा है।' 

यह भी पढ़ें- 5 महीने के निचले स्तर पर पहुंची सोने की कीमतें, जानें चांदी में कितनी आई गिरावट

कुल कितना कर्ज 
रिलायंस कैपिटल को एचडीएफसी का करीब 524 करोड़ रुपए चुकाना है। इसी तरह ऐक्सिस बैंक का कंपनी को करीब 101 करोड़ रुपए चुकाना है। 31 अक्टूबर, 2020 तक रिलायंस कैपिटल पर कुल कर्ज करीब 20,077 करोड़ रुपए का था। 

PunjabKesari

गौरतलब है कि अनिल अंबानी की कई कंपनियां मुश्किल में चल रही हैं। ग्रुप की कंपनी रिलायंस कम्युनिकेशंस को बैंकरप्शी का सामना करना पड़ा है। इस साल जुलाई में ही निजी क्षेत्र के यस बैंक ने 2,892 करोड़ रुपए का बकाया कर्ज नहीं चुकाने की वजह से अनिल धीरूभाई अंबानी समूह (ADAG) के सांताक्रूज मुख्यालय को अपने कब्जे में ले लिया था। यह मुख्यालय 21,432 वर्ग मीटर में है। यस बैंक ने रिलायंस इन्फ्रास्ट्रक्चर द्वारा बकाए का भुगतान नहीं करने के चलते दक्षिण मुंबई के दो फ्लैटों का कब्जा भी अपने हाथ में ले लिया है। 

यह भी पढ़ें- Moody's ने कहा- नया निवेश नहीं मिला, तो अगले दो साल में भारत में बैंकों की पूंजी घटेगी

चीनी बैंको की सख्ती 
इससे पहले सितंबर के अंतिम सप्ताह में खबर आई थी कि अनिल अंबानी पर 3 चीनी बैंकों का शिकंजा कसता जा रहा है। इन बैंकों का अनिल अंबानी पर करीब 5276 करोड़ रुपए का कर्ज है। इन तीन चीनी बैंकों ने रिलायंस ग्रुप के चेयरमैन के खिलाफ लंदन उच्च न्यायालय में हुई जिरह के बाद विश्व भर में फैली उनकी संपत्तियों पर अपने अधिकारों को आगे बढ़ाने का फैसला किया था। ये तीनों बैंक दुनिया भर में मौजूद अनिल अंबानी की संपत्तियों की जानकारी जुटाएंगे। अनिल अंबानी एक समय दुनिया के छठे सबसे अमीर व्यक्ति रहे हैं। मई में ब्रिटेन की अदालत ने इन तीनों बैंकों को ब्याज सहित 71.6 करोड़ डॉलर (करीब 5,276 करोड़ रुपए) और 7.04 करोड़ रुपए कानूनी खर्चों का भुगतान करने को कहा था। इनमें इंडस्ट्रियल एंड कमर्शियल बैंक ऑफ चाइना, एक्सपोर्ट-इम्पोर्ट बैंक ऑफ चाइना और चाइना डेवलपमेंट बैंक शामिल हैं।

PunjabKesari


 


jyoti choudhary

Recommended News