See More

बढ़ते विदेशी मुद्रा भंडार पर आनंद महिंद्रा ने जताई खुशी, कहा- 30 साल पहले लगभग शून्य था

2020-06-12T13:42:43.323

बिजनेस डेस्कः महिंद्रा समूह के चेयरमैन आनंद महिंद्रा ने देश के बढ़ते विदेशी मुद्रा भंडार पर प्रसन्नता जताते हुए कहा है कि इसका उपयोग बुद्धिमता के साथ वृद्धि की राह पर लौटने की दिशा में किया जाना चाहिए। उन्होंने अपने ट्विट में याद दिलाते हुए बताया कि करीब 30 साल पहले भारत का विदेशी मुद्रा भंडार लगभग शून्य हो गया था। उन्होंने भारत के विदेशी मुद्रा भंडार से संबंधित एक आलेख को ट्वीट करते हुए यह टिप्पणी की।

PunjabKesari

संबंधित आलेख के अनुसार, भारत का विदेशी मुद्रा भंडार करीब 500 अरब डॉलर के करीब पहुंच गया है। मौजूदा 493 अरब डॉलर का भंडार अगले 17 महीने तक की आयात जरूरतों के लिए पर्याप्त है।

PunjabKesari

महिंद्रा ने कहा, ‘‘30 साल पहले भारत का विदेशी मुद्रा भंडार लगभग शून्य हो गया था। अब हमारे पास तीसरा सबसे बड़ा वैश्विक भंडार है।" उन्होंने कहा, "इस अनिश्चित समय में यह खबर मनोबल बढ़ाने वाली है। अपने देश की क्षमता को मत भूलें और आर्थिक वृद्धि के रास्ते पर वापस आने के लिए इस संसाधन का बुद्धिमता से उपयोगल करें।" 

Anand Mahindra waited over 26 months to invest crores in this ...

आलेख में कहा गया है कि भारत पहले ही विदेशी मुद्रा भंडार के मामले में रूस और दक्षिण कोरिया से आगे निकल गया है। अब भारत चीन और जापान के बाद तीसरे स्थान पर पहुंच गया है।


jyoti choudhary

Related News