पारा चढ़ने के साथ ही AC उद्योग की बांछें खिलीं, बिक्री में 10% से अधिक वृद्धि की उम्मीद

punjabkesari.in Sunday, Apr 03, 2022 - 04:44 PM (IST)

नई दिल्लीः एयर कंडीशनर (एसी) कंपनियों को उम्मीद है कि पारा चढ़ने के साथ ही मांग बढ़ने से इस वर्ष उनकी बिक्री में दहाई अंक यानी 10 प्रतिशत से अधिक की वृद्धि होगी। हालांकि, उनका कहना है कि घरेलू एयर कंडीशनर के दाम करीब पांच फीसदी बढ़ सकते हैं। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने हाल में कहा था कि इस वर्ष अप्रैल और मई माह में तापमान ‘सामान्य से अधिक'' रह सकता है। इससे उत्साहित एसी विनिर्माताओं वोल्टास, हिताची, एलजी, पैनासॉनिक और गोदरेज अप्लायंसेज का मानना है कि इस बार मांग बढ़ेगी। इससे पहले दो साल कोविड-19 के कारण बाजार में व्यवधान उत्पन्न हो गया था। कुछ कंपनियों का कहना है कि इस मौसम में एसी की अधिक मांग होने के कारण एसी और ठंडक प्रदान करने वाले अन्य उत्पादों की कमी हो सकती है। 

कलपुर्जों, धातुओं विशेषकर तांबा और एल्युमिनियम की बढ़ती कीमतें और कच्चे तेल के बढ़ते दाम के असर को कम करने के लिए उद्योग ने पिछली तिमाही में मूल्यवृद्धि की थी। टाटा समूह की कंपनी वोल्टास के प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यपालक अधिकारी प्रदीप बक्शी ने कहा, "2021-22 के दौरान उद्योग को दामों में दहाई अंकों की बढ़ोतरी का कई बार सामना करना पड़ा। हालांकि, हमने यह सुनिश्चित करने का प्रयास किया कि ग्राहक इन गर्मियों में ठंडक प्रदान करने वाले उत्पाद खरीदने से पीछे न हटें। इसलिए हमने कई तरह के ऑफर और ईएमआई विकल्प दिए हैं।'' 

उपभोक्ता इलेक्ट्रॉनिक्स और उपकरण विनिर्माता संघ (सीईएएमए) ने उम्मीद जताई कि गर्मियों के इस मौसम की साल की कुल बिक्री में हिस्सेदारी 35 से 40 फीसदी हो सकती है। सीईएएमए के अध्यक्ष एरिक ब्रेगेंजा ने कहा, "बीते कुछ वर्षों से कीमतें अस्थिर रही हैं। महामारी से हालात और भी बदतर हो गए। बीते 18 महीनों में उपभोक्ता उपकरण क्षेत्र में कीमतें 15 फीसदी तक बढ़ीं। जिंस तथा कच्चे माल के दाम बढ़ने से उद्योग लगातार दबाव में है।'' उन्होंने कहा, "मूल्यवृद्धि उपभोक्ताओं को तुरंत प्रभावित नहीं करेगी, क्योंकि मार्च-अप्रैल, 2022 तक का उत्पादन पहले से तय है। मई से कीमतें बढ़ सकती हैं।'' 

जॉनसन के नियंत्रण वाली हिताची एयर कंडीशनिंग इंडिया का कहना है कि ‘घर से काम' की संस्कृति उद्योग में वृद्धि की कारक है। कंपनी के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक गुरमीत सिंह ने कहा, ‘‘जिंसों और अन्य वस्तुओं की बढ़ती कीमतों के कारण हमें अप्रैल तक दाम तीन से चार फीसदी बढ़ाने होंगे।'' पिछले साल तक तीन स्टार वाले इन्वर्टर स्प्लिट एसी की कीमत 33,500 रुपए थी जो अब 36,500 से 37,000 रुपए हो गई है। 

गोदरेज अप्लायंसेज के कारोबार प्रमुख और कार्यकारी उपाध्यक्ष कमल नंदी ने कहा, ‘‘बीती दो गर्मियां लॉकडाउन के कारण प्रभावित रहीं और कई उपभोक्ताओं ने खरीद टाल दी। हालांकि, कई कंपनियों द्वारा घर से काम करने की संस्कृति अपनाई गई है, तापमान भी लगातार बढ़ रहा है जिससे मूल्यवृद्धि के बावजूद मांग बढ़ेगी।'' पैनासॉनिक इंडिया के कारोबार प्रमुख (एयर कंडीशनर समूह) गौरव साह ने कहा, ‘‘इन गर्मियों में एसी उद्योग में दहाई अंक में वृद्धि की उम्मीद है।'' ब्रेगेंजा ने कहा कि भारत का आवासीय एसी बाजार 70 से 75 लाख इकाई का होने की उम्मीद है। इस क्षेत्र में 15 से अधिक कंपनियां कार्यरत हैं। 
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

jyoti choudhary

Related News

Recommended News