ICJ में बढ़ी भारत की मुश्किलें, शशि थरूर ने इंगलैंड पर साधा निशाना

Tuesday, November 14, 2017 11:55 AM
ICJ में बढ़ी भारत की मुश्किलें, शशि थरूर ने इंगलैंड पर साधा निशाना

नई दिल्लीः इंटरनैशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस (ICJ) में जज चुने जाने के लिए वोटिंग चल रही है, जिसमें  इंगलैंड और भारत के जज आमने-सामने हैं। भारत को जनरल एसैंबली में ज्यादा वोट मिले हैं लेकिन सिक्योरिटी काउंसिल में इंगलैंड की स्थिति मजबूत है। कांग्रेस के सीनियर नेता शशि थरूर ने इंगलैंड पर निशाना साधते हुए UN में बदलाव की मांग उठाई है।  शशि थरूर का कहना है कि  इंगलैंड  ऐसा करके बहुमत की आवाज को अनसुना कर रहा है। ICJ का जज बनने के लिए भारत के जस्टिस दलवीर भंडारी और  इंगलैंड के क्रिस्टिफर ग्रीनवुड के  बीच मुकाबला है।

क्या है मामला
 ICJ का जज बनाने के लिए जनरल काउंसिल और सिक्योरिटी काउंसिल दोनों के सदस्य वोट करते हैं। भारत के उम्मीदवार जस्टिस दलवीर भंडारी को जनरल एसैंबली में 115 वोट मिले थे वहीं  इंगलैंड ने 74 वोट हासिल किए। 15 सदस्यों की सुरक्षा परिषद में भारत को 6 और  इंगलैंड को 9 वोट मिले। नियम के हिसाब से उम्मीदवार को जनरल एसैंबली में 97 वोट और सिक्योरिटी काउंसिल में 8 वोट मिलने चाहिए।  

शशि थरूर ने कुल सात ट्वीट करके बताया कि UN  में क्या-क्या हुआ। भंडारी का जीतना इसलिए भी जरूरी है क्योंकि ICJ ही कुलभूषण जाधव के मामले की सुनवाई कर रहा है। भारतीय नागरिक जाधव को पाकिस्तान ने जासूस बताकर कैद कर रखा है। ICJ में कुल 15 जज होते हैं जिनका कार्यकाल 9 साल होता है, इसमें से पांच पोस्ट खाली हैं। फ्रांस, ब्राजील, लेबनान से जजों को चुन लिया गया है, अब भारत और यूके के बीच मुकाबला है।



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!