100 करोड़ का हुआ ‘दाढ़ी-मूंछ’ का कारोबार

Wednesday, January 10, 2018 6:23 PM
100 करोड़ का हुआ ‘दाढ़ी-मूंछ’ का कारोबार

मुम्बई : महिलाओं के साथ-साथ अब पुरुष भी अपने लुक्स का खास ख्याल रखने लगे हैं। अच्छा दिखने के लिए पुरुषों में दाढ़ी-मूंछ रखने का चलन गत 2 सालों में तेजी से बढ़ा है। इसकी बदौलत सिर्फ  बीयर्ड केयर प्रॉडक्ट्स बनाने का कारोबार 100 करोड़ रुपए के करीब पहुंच चुका है। फिल्मी सितारों, क्रिकेटरों से शुरू हुआ चलन अब छोटे शहरों तक पहुंच गया है।

युवाओं को दाढ़ी-मूंछ की तरफ आकर्षित करने के लिए अब गाने भी बनने लगे हैं। कई ऐसे क्लब भी चल रहे हैं जो दाढ़ी-मूंछ वालों को तरजीह देते हैं। दाढ़ी-मूंछ के लिए उत्पाद बनाने वाली कम्पनी ‘बियरडो’ के फाऊंडर आशुतोष वलानी ने कहा कि अभी बाजार अपने चरम पर नहीं पहुंचा है, बल्कि यह तो सिर्फ  शुरूआत है। उनके मुताबिक आने वाले 5 और साल ऐसा ही क्रेज बना रहने वाला है। आशुतोष ने यह भी कहा कि जैसे 90 के दौर में क्लीन शेव रहना स्टाइल स्टेटमैंट माना जाता था, वैसे ही अब दाढ़ी-मूंछ को माना जाता है। उन्होंने कहा कि यह सिर्फ  फैशन स्टेटमैंट ही नहीं बल्कि लाइफस्टाइल का हिस्सा बन चुका है। सिर्फ  2-3 साल में 100 करोड़ की मार्कीट तैयार हो जाना यह दिखाता है कि पुरुष खुद पर खासा ध्यान दे रहे हैं।

आने वाले समय में 5000 करोड़ रुपए की हो सकती है मार्कीट
आशुतोष ने बताया कि उन्होंने कम्पनी की शुरुआत ही इसलिए की थी क्योंकि उन्हें लगता था कि कोई ऐसा ब्रांड होना चाहिए जो सिर्फ  पुरुषों से संबंधित सामान बनाए। उनके मुताबिक यह मार्कीट आने वाले वक्त में 5000 करोड़ रुपए की हो सकती है।

इस वक्त कई नई कंपनियां इस मार्कीट में उतर चुकी हैं, वहीं कई ऐसी कंपनियां भी इसमें अपना हाथ आजमा रही हैं जो पहले सिर्फ महिलाओं पर फोकस थीं। ऐसी ही एक कंपनी है इमामी, जिसके डायरैक्टर वी. अग्रवाल ने कहा कि अब पुरुष अपने लुक्स का खासा ध्यान रखते हैं। उनके मुताबिक, अब पुरुष यूनिसैक्स या महिलाओं के प्रॉडक्टस इस्तेमाल करके संतोष नहीं करते। 

 

 



अपना सही जीवनसंगी चुनिए | केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन