एक ऐसा देश जहां होता है 1 रात के लिए विवाह, दुल्हन खुद चुनती है दूल्हा

Saturday, September 9, 2017 12:08 AM
एक ऐसा देश जहां होता है 1 रात के लिए विवाह, दुल्हन खुद चुनती है दूल्हा

बीजिंग: धर्म-सांप्रदाय चाहे जो भी हो लेकिन शादी-विवाह के मामले में एक बात कॉमन है कि वे इसमें पति-पत्नी का जन्म-जमान्तर का रिश्ता होता है। लेकिन दुनिया में एक जगह ऐसी भी है जहां विवाह सिर्फ एक रात के लिए होता है। इस विवाह में दुल्हन खुद अपनी पसंद का दूल्हा चुनती है और इसे चुनने का तरीका अभी अपने आप में अनौखा है।

 

चीन में होता है ऐसा अनोखा विवाह
यह रिवाज चीन के शिलिंग घाटी में रहने वाले लोग निभाते हैं। कई वर्षों से वह इस परंपरा को बिना बदले निभाते आ रहे हैं। वहां घूमने आए लोग भी इस विवाह का लुत्फ उठाते हैं। ओर तो ओर, इस विवाह में लड़की दूल्हा अपने आस-पास से नहीं, बल्कि गांव घूमने आए सैलानियों में से चुनती है। PunjabKesari
धूमधाम के साथ होता है विवाह
यहां लड़कियां यहां किश्ती के पास छाता लेकर सैलानियों के इंतजार में बैठी रहती हैं। जब सैलानियों का झुंड आता है तो वह उनको लेकर अपने घर की तरफ रवाना होती हैं। लड़कियों के परिवार वाले भी इस विवाह के लिए काफी उत्साहित रहते हैं। घरों को अच्छी तरह के साथ सजाया जाता है और आंगन में डोली रखी जाती है। सैलानियों के घर पहुंचने पर गाने-बजाने का प्रोग्राम शुरू किया जाता है। 


लाल कपड़ा तय करता है दूल्हा 
विवाह की शुरुआत दुल्हन के पिता की तरफ से होती है। वह सभी सैलानियों को इन रस्मों और रीति-रिवाजों के बारे में बताते हैं। इस के बाद दुल्हन हाथ में लाल कपड़ा लेकर आती है और वह कपड़ा सैलानियों पर फेंकती है। जिस शख्स पर भी यह कपड़ा गिरता है उसे दूल्हे की पोशाक पहनाई जाती है और फिर धूमधाम के साथ दोनों का विवाह किया जाता है। 

 

बस कुछ घंटे रहता है साथ
यह नवविवाहित जोड़ा सिर्फ कुछ ही घंटों तक साथ रहता है। अगर दोनों की मर्जी है तो वह एक दिन भी साथ बिता सकते हैं लेकिन इसके बाद दोनों का अलग होना निश्चित है। दरअसल, यह विवाह शिलिंग घाटी की जनजाति संस्कृति को समझाने के लिए किया जाता है।
 



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!