सोने से पहले करें ये काम, नहीं सताएंगे बुरे स्वप्न

Thursday, January 25, 2018 11:22 AM
सोने से पहले करें ये काम, नहीं सताएंगे बुरे स्वप्न

वास्तु में मनुष्य के बेहतर जीवन के लिए बहुत सी बातें बताई गई हैं। इन बातों को अपनाने से व्यक्ति को अपनी समस्याओं का समाधान बड़ी आसानी से मिल जाता है। वास्तु में इंसान के बैठने से लेकर सोने तक से संबंधित बातों के बारे में बताया गया है, जिन पर अगर व्यक्ति ध्यान दे तो उसको स्वास्थ्य लाभ के साथ-साथ सुख-समृद्धि प्राप्त होती है और समस्त मुश्किलें भी खत्म भी होती है। जानें वास्तु में सोने से संबंधित बताई गई कुछ महत्वपूर्ण बातें-


किस दिशा में सिर रखें
ध्यान रखें कि सोते समय पांव उत्तर दिशा की ओर और सिर दक्षिण दिशा की ओर करके सोएं। ऐसे सोने पर बीमारियां दूर रहती हैं। वातावरण में भी चुम्बकीय शक्ति होती है, ये शक्ति दक्षिण से उत्तर दिशा की ओर बहती रहती है। जब हम दक्षिण दिशा की ओर सिर करके सोते हैं तो यह ऊर्जा हमारे सिर से प्रवेश करती है और पैरों के रास्ते बाहर निकल जाती है। इस क्रिया से भोजन आसानी से पच जाता है। सुबह जब हम उठते हैं तो दिमाग शांत रहता है और ताजगी महसूस होती है।

 

यदि दक्षिण दिशा की ओर पैर करके सोएंगे तो
दक्षिण दिशा की ओर पैर करके सोने से चुम्बकीय ऊर्जा पैरों से प्रवेश करती है और सिर तक पहुंचती है। इस स्थिति में मानसिक तनाव बढ़ता है और नींद ठीक से नहीं आती है। इसलिए सोते समय पैर दक्षिण दिशा की ओर करना मना किया गया है।

 

यदि किसी कारणवश दक्षिण दिशा में सिर रखकर सोना संभव न हो तो पूर्व दिशा में सिर और पश्चिम दिशा में पैर रखकर सो सकते हैं। इस संबंध से संबंधित मान्यता है कि पूर्व दिशा से सूर्योदय होता है और सूर्य देव को भगवान माना जाता है। यदि पूर्व दिशा में पैर रखकर सोएंगे तो सूर्योदय के समय हमारे पैर सूर्य के सामने रहेंगे, जो कि अशुभ माना जाता है। सूर्य के लिए सम्मान हेतु पूर्व दिशा में सिर रखकर सोना चाहिए।

 

सोने से पहले ध्यान रखें ये बातें भी
रात को खाना खाने के तुरंत बाद सोना नहीं चाहिए। खाने के बाद कुछ देर पैदल चलना चाहिए, वज्रासन में बैठना चाहिए। खाने के करीब 2 घंटे बाद सोना स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होता है। अ्गर संभव हो तो सोने से पहले अच्छा साहित्य जरूर पढ़े और भगवान के मंत्रों का जाप करें इससे रात में बुरे स्वप्न नहीं सताते। 



अपना सही जीवनसंगी चुनिए | केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन