चाणक्य नीति: खुद में पैदा करें ये गुण, जीवन में कभी नहीं होंगे असफल

Friday, September 15, 2017 11:04 AM
चाणक्य नीति: खुद में पैदा करें ये गुण, जीवन में कभी नहीं होंगे असफल

आचार्य चाणक्य ने जीवन से संबंधित हर पहलु से संबंधित नीतियों का उल्लेख किया है। चाणक्य की नीतियां जितनी पहले समय में कारगर थी उतनी ही आज हैं। जिन पर अमल करके व्यक्ति खुशहाल जीवन यापन कर सकता है। व्यक्ति के जीवन में सफललता असफलता का दौर चलता रहता है। आचार्य चाणक्य ने ऐसे कई मंत्र बताए हैं जिन का पालन करने या स्वयं में इन गुणों को पैदा करने से व्यक्ति अपनी असफलता को सफलता में बदल सकता है।  

व्यक्ति में आत्मविश्वास होना चाहिए। आत्मविश्वास होने पर व्यक्ति कठिन से कठिन परिस्थितियों का भी सामना करने के योग्य होता है। जिन लोगों में आत्मविश्वास होता है वे किसी भी काम में असफल नहीं होते हैं। 

व्यक्ति को अपनी मेहनत का फल किसी न किसी दिन अवश्य मिलता है। जीवन में कभी भी मेहनत से जी नहीं चुराना चाहिए। कड़ी मेहनत सफलता का मूलमंत्र है। 

व्यक्ति की असली पूंजी उसका ज्ञान ही है। ज्ञान ही है जिसे कोई चुरा नहीं सकता। किसी भी प्रकार का अर्जित ज्ञान कभी बेकार नहीं जाता। किसी न किसी दिन व्यक्ति का अनुभव काम में आता है। ऐसा व्यक्ति जीवन में कभी भी असफल नहीं होता है। 

व्यक्ति के जीवन में अच्छा-बुरा समय आता रहता है। जीवन में पैसे की जरुरत सदैव बनी रहती है। जीवन में सफलता पाने के लिए व्यक्ति के पास अतिरिक्त धन होना चाहिए। बुरे समय में ये धन काम में आता है। 

जीवन में सफल होना है तो व्यक्ति को सदैव सतर्क रहना चाहिए। व्यक्ति जहां भी रहे या काम करें वहां अपने आंख, कान खुले रखे। 
 



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!