भारत के अद्भुत 12 धार्मिक स्थल, अनोखी परंपराओं को लेकर है प्रसद्धि

Saturday, January 27, 2018 12:44 PM
भारत के अद्भुत 12 धार्मिक स्थल, अनोखी परंपराओं को लेकर है प्रसद्धि

भारत में एेसे अनकों मंदिर है जो अपनी मान्यताओं व विशेषताओं को लेकर अद्भुत माने जाते हैं। लेकिन यह मंदिर देशभर में विचित्र होने के साथ-साथ बेहद प्रसद्धि भी है। इन मंदिरों की सूची में 12 एेसे मंदिर है जो अपने अनोखपन और अजीबो-गरीब परंपराओं को लेकर देशभर में प्रसद्धि है। तो आईए जानें इन मंदिर की बार में-

 

भारत माता मंदिर (वाराणसी, उत्तरप्रदेश)
भारत माता मंदिर उत्तर प्रदेश की धार्मिक नगरियों में से एक वाराणसी के राजघाट पर स्थित का एक अनोखा मंदिर है। यह मंदिर केवल 'भारत माता' को समर्पित है। भारत माता के इस मंदिर का निर्माण बाबू शिवप्रसाद गुप्त द्वारा करवाया गया था, जबकि इसका उद्घाटन वर्ष 1936 में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी द्वारा हुआ था। मंदिर में किसी देवी-देवता की मूर्ति स्थापित नहीं है। केवल भारत का भू मानचित्र है, जो संगमरमर के टुकड़ो पर उकेरा गया है। यहां भारत के राष्ट्रीय ध्वज की पूजा की जाती है। राष्ट्रीय ध्वज के साथ ही स्वतंत्रता सैनानियों की भी पूजा की जाती है।

PunjabKesari

ब्रह्म बाबा मंदिर (जौनपुर, उत्तरप्रदेश)
यह ऐसा मंदिर है जहां लोगों की आस्था एक पीपल के पेड़ से जुड़ी है। सामान्यतः मंदिरों में पीपल के पेड़ पर लच्छा या धागा बांढ कर अपनी मन्नत मांगते हैं लेकिन इस मंदिर में भक्त अपनी मनोकामना पूरी करने के लिए पीपल के पेड़ पर घड़ी टांगते हैं। स्थानीय लोगों का मानना है कि ब्रह्म बाबा सबकी मुरादें पूरी करते हैं। घड़ी वाले बाबा के दरबार में प्रतिदिन सैकड़ों भक्त आकर दर्शन-पूजन करते हैं और पूरी आस्था के साथ दीवार पर घड़ी टांगते हैं। उन्हें विश्वास है कि बाबा के यहां हाजिरी लगाने वाला कोई भी भक्त खाली हाथ वापस नहीं जाता।

PunjabKesari
 

शहीद बाबा निहाल सिंह गुरुद्वारा (जालंधर, पंजाब)
जालंधर के जिले तल्हण गांव में स्थित संत बाबा निहाल सिंह जी गुरुद्वारे के बारे में देश-विदेश में लोगों का ऐसा ही मानना है कि यहां खिलौने का हवाई जाहज चढ़ाने से वीजा मिलने में आसानी होती है, इसलिए लोग यहां मत्था टेकने के बाद खिलौने का हवाई जाहज चढ़ाते हैं।

PunjabKesari

कोडुंगल्लूर भागीरथी मंदिर (केरल)
कोडुंगल्लूर मंदिर में लोग मां भगवती की पूजा करते हैं। इस मंदिर का भरणि उत्सव बहुत प्रसिद्ध है, जिसमें लोग लाठियों और तलवारों को लेकर नाचते हुए पूजा करते हैं और अपना रक्त देवी मां को चढ़ाते हैं।

PunjabKesari

कालभैरव मंदिर (उज्जैन, मध्यप्रदेश)
भारत के रहस्यंयी मंदिरों में से महाकाल की नगरी उज्जैन का काल भैरव मंदिर है। इसकी सबसे बड़ी विशेषता यह है की यहां पर भगवान काल भैरव साक्षात रूप में मदिरा पान करते हैं। कहा जाता है कि मंदिर में जैसे ही शराब से भरे प्याले काल भैरव की मूर्ति के मुंह से लगाते हैं तो देखते ही देखते शराब के प्याले खाली हो जाते हैं।

PunjabKesari

दिगम्बेश्वर मंदिर (नागराला, कर्नाटक)
नागराला के इस मंदिर में लोगों के पूजा करने का तरीका बिलकुल अलग है। यहां लोग अपने नवजात बच्चे को मंदिर की छत के नीचे लगे जाल पर फैंकते हैं और उसके अच्छे स्वास्थ्य और भविष्य की कामना करते हैं।

PunjabKesari

 

रावण मंदिर (रावणग्राम, मध्यप्रदेश)
पूरी दुनिया में भगवान राम की तो कई जगह पूजा की जाती हैं लेकिन बहुत ही कम लोग जानते होंगे कि कुछ जगहों पर रावण की भी पूजा की जाती है। मध्यप्रदेश के एक मंदिर में कान्यकुब्ज ब्राम्हण लोग रावण को अपना पूर्वज मानते हुए उसकी पूजा करते हैं।

PunjabKesari
 

पोरूवाजी पेरूविरूथी (मलानादा, केरल)
हमारे देश में भगवान कृष्ण के तो मंदिर हैं ही लेकिन केरल के मलानादा में एक ऐसा मंदिर है, जहां लोग महाभारत के दुर्योधन को भी एक देवता के रूप में पूजते हैं।

PunjabKesari

मेहंदीपुर बालाजी (राजस्थान)
यह मंदिर भगवान हनुमान के सबसे खास मंदिरों में से एक है। इस मंदिर में भूत-प्रेत और ऊपरी बाधाओं से पीड़ित लोगों का इलाज किया जाता है। माना जाता है कि इस मंदिर में भूत-प्रेत से छूटकारा खुद भगवान हनुमान दिलाते हैं।

PunjabKesari

ओम बन्ना मंदिर (जोधपुर, राजस्थान)
इस मंदिर को सबसे अनोखा मंदिर कहा सकता है, क्योंकि इस मंदिर में किसी देवी या देवता की नहीं बल्कि एक मोटर साइकिल की पूजा की जाती है। यहां मोटर साइकिल की पूजा करने के पीछे एक यातायत पुलिस की कहानी जुड़ी है। आज भी पुलिस कर्मियों के लिए यह मंदिर बहुत खास है।

PunjabKesari

चीनी काली मंदिर (कोलकाता)
कोलकाता के इस मंदिर का निर्माण हिंदुओं ने नहीं बल्कि चीन के लोगों ने करवाया था। चीनी काली मंदिर की सबसे खास बात यहां की प्रसाद है। यहां देवी को प्रसाद में चाइनीज वस्तुओं का ही भोग लगाया जाता है। नूडल्स, चोपसी, चावल और सब्जियों के व्यंजन यहां के मुख्य प्रसाद है।

PunjabKesari

खबीस बाबा मंदिर (उत्तरप्रदेश)
उत्तरप्रदेश के सीतापुर का खबीस बाबा मंदिर देश के अनोखे मंदिरों में खास माना जाता है। यहां बड़ी संख्या में लोग मन्नतों के लिए आते हैं। यहां पर भोग में शराब चढ़ाई जाती है और वहीं प्रसाद के रुप में भी दी जाती है।

PunjabKesari



अपना सही जीवनसंगी चुनिए | केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन