देश में दलहन का भरपूर उत्पादन, इस साल महंगी नहीं होगी दाल

Saturday, March 4, 2017 1:10 PM
देश में दलहन का भरपूर उत्पादन, इस साल महंगी नहीं होगी दाल

कानपुर: भारतीय दलहन अनुसंधान संस्थान को उम्मीद है कि इस वर्ष देश में दालों का उत्पादन करीब 221 लाख टन होगा और आम लोगों को सस्ते दामों पर दाले बाजार में उपलब्ध होगी। पिछले वर्ष की तरह दालों के दाम 200 रूपए तक नहीं जाएंगे।   भारतीय दलहन अनुसंधान संस्थान के निदेशक डा. एनपी सिंह ने एक पत्रकार वार्ता में बताया कि इस वर्ष देश में दलहन उत्पादन में एेतिहासिक वृद्धि होने की संभावना है। कृषि सहकारिता विभाग के अनुमान के अनुसार देश में इस वर्ष लगभग 221 लाख टन होना सुनिश्चित है। दालों की इस बंपर पैदावार में वैज्ञानिक विधि से उन्नत तकनीक का इस्तेमाल भी एक महत्तवपूर्ण हिस्सा है। पिछले साल देश में दालों की कीमत 200 रूपए तक पहुंच गई थी। इसका कारण यह था कि हमारे देश में दलहन का उत्पादन 160 से 180 लाख टन होता था जबकि देश दाल की खपत करीब 220 लाख टन की थी।

उन्होंने बताया कि दलहन उत्पादकता में वृृद्धि लाना, कम समय में पैदा होने वाली दलहन की प्रजातियों का विकास करना तथा फसल की गुणवत्ता को बढ़ाना प्रमुख था। पिछले साल से किये जा रहे इन प्रयासों के सुखद परिणाम सामने आए और अब दालों के आयात पर हमारी निर्भरता घटेगी तथा दालों के दाम भी नियंत्रित रहेंगे। उन्होंने बताया कि पिछले दो वर्षों में विभिन्न दलहन की फसलो की 23 उन्नतशील प्रजातियां विकसित की गई जिसमें चने की सात, अरहर की चार, मूंग व मसूर की तीन तीन तथा मटर और उड़द दाल की एक एक प्रजाति विकसित की गई। सिंह ने बताया कि इन सभी प्रजातियों में दलहन संस्थान द्वारा 9 उन्नतिशील प्रजातियां विकसित की गई जिसमें 55 दिनों से कम में पकने वाली मूंग की प्रजाति आईपीएम 205.7 (विराट) को अभी हाल ही में रिलीज किया गया है। इसके अलावा मसूर दाल की एक प्रजाति आईपीएल 220 को भी विकसित किया गया है जो लौह तत्व और जिंक से परिपूर्ण है तथा कुपोषण की समस्या को दूर करती है।

उन्होंने बताया कि यह दलहन संस्थान इक्रीसेट हैदाराबाद, एवीआरडीसी ताईवान, एसीआईएआर आस्ट्रेलिया, तथा इकार्डा लेबनान जैसी विश्वस्तरीय संस्थाआें के साथ मिलकर शोध कार्य कर रहा है। इस शोध कार्य में देश के महत्तवपूर्ण वित्तीय संस्थान भी मदद कर रहे है। संस्थान का लक्ष्य है वर्ष 2020 तक देश में दालों का उत्पादन बढ़ाना।



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!