उमंग ऐप पर सर्वाधिक लेन-देन के लिये ईपीएफओ को प्लैटिनम पार्टनर पुरस्कार

2020-11-25T22:23:20.46

नयी दिल्ली, 25 नवंबर (भाषा) कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) को उसके उमंग मोबाइल ऐप पर सर्वाधिक 25 लाख से अधिक लेन-देन को लेकर प्‍लैटिनम पार्टनर पुरस्‍कार दिया गया है।

श्रम मंत्रालय के बुधवार को जारी बयान के अनुसार इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने उमंग ऐप के तीन वर्ष पूरे होने के अवसर पर केन्‍द्र तथा राज्‍यों के सहयोगी विभागों के लिए सभी सेवाओं में पिछले छह महीनों में औसत लेन-देन के आधार पर उमंग पुरस्‍कार की घोषणा की।

बयान के अनुसार ईपीएफओ को उमंग मोबाइल ऐप पर 25 लाख से अधिक लेन-देन रजिस्टर करने को लेकर प्‍लैटिनम पार्टनर पुरस्‍कार दिया गया है।

ईपीएफओ के अधिकतर अंशधारक सामाजिक-आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के हैं। ऐसे ईपीएफओ के करोड़ों सदस्यों तक पहुंच बनाने के लिए सुलभ और किफायती समाधान की जरूरत थी।

स्‍मार्टफोन, टैबलेट तथा डेस्कटॉप जैसे इंटरनेट आधारित उपकरणों की लोकप्रियता और सहज इस्‍तेमाल पर विचार करते हुए ईपीएफओ ने सहज रूप से अपनी सेवाओं को 24 घंटे पहुंच योग्‍य बनाने के लिए उमंग ऐप के उपयोग करने का लक्ष्य रखा। खासकर दूरदराज क्षेत्रों रहने वाले उपभोक्‍ताओं को ध्यान में रखते हुए उमंग ऐप पर ईपीएफओ सेवाएं शुरू की गयी।

ईपीएफओ सदस्‍य उमंग ऐप का इस्‍तेमाल करके अपने मोबाइल फोन पर ईपीएफओ की 19 विभिन्‍न सेवाएं ले सकते हैं।
सदस्‍य अपना पासबुक देख सकते हैं। यूएएन (सार्वभौमिक खाता संख्या) चालू कर सकते हैं, दावे कर सकते हैं, दावे की स्थिति देख सकते हैं, योजना प्रमाण-पत्र के लिए आवेदन कर सकते हैं, यूएएन के साथ आधार जोड़ सकते हैं, जीवन प्रमाण अद्यतन कर सकते हैं, शिकायत दर्ज कर सकते हैं, प्रतिष्‍ठान खोज सकते हैं और ईपीएफओ कार्यालय के पते आदि प्राप्‍त कर सकते हैं।

ईपीएफओ अंशधारकों में उमंग ऐप काफी लोकप्रिय हुआ है। इससे अंशधारक कोविड-19 महामारी के दौरान घर बैठे भी सेवाएं ले सकते हैं।

चालू वित्त वर्ष में एक अप्रैल से सितंबर, 2020 के दौरान उमंग ऐप पर सदस्‍यों द्वारा 7.91 लाख दावे किए गए है। उमंग से सदस्‍यों को ईपीएफओ सेवाएं प्राप्‍त करने में कोविड-19 की आवाजाही प्रतिबंधों से मुक्ति मिली है और इससे उन्हें ईपीएफओ के कार्यालय जाने की आवश्‍यकता कम हुई है।

बयान के अनुसार उमंग ऐप निर्बाध, ऑनलाइन सेवा प्रदान करने के कारगर माध्यम के रूप में उभरा है।



यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

Edited By

PTI News Agency

Recommended News