भारत-चिली के बीच व्यापार करार के विस्तार को बातचीत अंतिम चरण में : अधिकारी

2020-11-22T17:18:14.273

नयी दिल्ली, 22 नवंबर (भाषा) भारत और दक्षिण अमेरिकी देश चिली के बीच तरजीही व्यापार करार के विस्तार के लिए वार्ता अंतिम चरण में है। एक अधिकारी ने यह जानकारी देते हुए कहा कि आर्थिक संबंधों को मजबूत करने के लिए दोनों देश करार के तहत करीब 400 और उत्पादों को शामिल करेंगे।
दोनों देशों के बीच तरजीही व्यापार करार (पीटीए) पर आठ मार्च, 2006 को दस्तखत हुए थे। यह करार अगस्त, 2007 से लागू हुआ था। 2016 में करार का दायरा बढ़ाते हुए इसमें और उत्पाद शामिल किए गए थे। अभी करार के तहत करीब 2,000 उत्पाद शामिल है। पीटीए में दोनों व्यापारिक भागीदारी आपसी व्यापार वाली वस्तुओं पर शुल्कों में कटौती करते हैं या उसे पूरी तरह समाप्त करते हैं।
अधिकारी ने बताया, ‘‘करार के दूसरे विस्तार के लिए बातचीत अंतिम चरण में है। करार के तहत 400 और उत्पादों को शामिल किया जाएगा।’’
अधिकारी ने कहा कि लिथियम और तांबा अयस्क जैसे उत्पाद अब करार के तहत आएंगे। लातिनी अमेरिकी देशों में चिली भारत का सबसे बड़ा व्यापारिक भागीदार है।


यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

Edited By

PTI News Agency

Related News