See More

दिल्ली में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच बढ़ी प्लाज्मा की मांग, CM केजरीवाल ने लोगों से की ये अपील

2020-07-06T12:50:14.013

नई दिल्ली/ डेस्क। दिल्ली में कोरोना के कारण मौत के बढ़ते आंकड़ों को कम करने के लिए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने लोगों से प्लाज्मा डोनेट करने की अपील की है। उन्होंने ऑनलाइन प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि दिल्ली में कोरोना के मामले 1 लाख के करीब पहुंच चुके हैं। लेकिन घबराने की जरूरत नहीं है, क्योंकि लगभग 72,000 लोग ठीक हो चुके हैं। उन्होंने कहा कि दिल्ली में इस समय लगभग 25 हजार कोरोना के सक्रिय मामले हैं जिनमें से 15 हजार होम आइसोलेशन में हैं। 

 

सीएम केजरीवाल ने कहा कि होमआइसोलेशन वालों का सरकार पूरा ध्यान रख रही है। उनके रोजाना फोन करने के साथ-साथ ऑक्सीमीटर भी उपलब्ध करवाए गए हैं। दिल्ली में कोरोना के कारण होने वाली मौत के आंकड़ों में कमी आई है, इस आंकड़े को और कम करने के लिए सरकार प्रयासरत है। 


सीएम केजरीवाल ने कहा कि हमने पिछले सप्ताह ही देश के पहले प्लाज्मा बैंक की शुरुआत कर दी है। आईएलबीएस अस्पताल जो की एक नॉन कोविड अस्पताल है उसमे प्लाज्मा बैंक बनाया गया है। सभी लोगों से अपील है कि ज्यादा से ज्यादो लोग प्लाजमा दान करें। इस समय दिल्ली में प्लाज्मा दान करने वाले कम और मांगने वाले ज्यादा हैं। अगर अधिक से अधिक डोनर आगे नहीं आए तो प्लाज्मा बैंक में भी प्लाज्मा खत्म हो जाएगा। 
 

सीएम केजरीवाल ने कहा कि उन्होंने रविवार को खुद कोरोना से ठीक होने वाले मरीजों से बात कर कोरोना दान करने की अपील की और उनका रिस्पन्स देखकर वो बहुत खुश हैं। सभी प्लाज्मा दान करने के लिए आगे आ रहे हैं। 


बता दें कि प्लाज्मा दान वही कर सकता है जो एक बार कोरोना संक्रमित हुआ हो और उससे ठीक हो चुका हो। ठीक होने के 14 दिन बाद ही प्लाज्मा दान किया जा सकता है। इसके अलावा 18-60 साल की बीचे के उम्र के लोग ही प्लाज्मा दान कर सकेंगे। प्लाज्मा दान करने के लिए 50 किलो भार होना जरूरी है। कोई भी महिला जो एक बार गर्भवती हो चुकी हो वो प्लाज्मा दान नहीं कर सकती। इसके अलावा शुगर के मरीज, हाइपर टेंशन के मरीज, किडनी या लिवर की बीमारी से ग्रसित लोग, कैंसर सर्वाइवर भी प्लाज्मा दान नहीं कर सकेंगे।

 


Edited By

Murari Sharan

Related News