See More

कोरोना से जंग: दुनिया के लिए संकटमोचक बना whatsapp

2020-03-31T09:31:41.053

नेशनल डेस्क (नवोदय टाइम्स ): सोशल मीडिया ने कोविड 19 के खिलाफ विश्व व्यापी जंग में अपने महत्व को साबित कर दिया है। सारी दुनिया में सरकारें इसी के माध्यम से सूचनाएं ले रही हैं और दे रही हैं। फेसबुक व ट्विटर ने तो अलग से पेज बनाकर इसकी ताजा सूचनाएं देने का काम शुरू कर दिया है। इसके अलावा फेक न्यूज के लिए कुख्यात व्हाट्सएप ने कोविड 19 के खिलाफ लड़ाई में अपनी भूमिका को बहुत ही मजबूती से जाहिर किया है। भारत में तो सरकारें घर-घर तक सहायता पहुंचाने में भी व्हाट्सएप की सहायता ले रही है। ऐसा केवल भारत में ही नहीं सारी दुनिया में किया जा रहा है। 

 

व्हाट्सएप ने एक लेख में ये भी सुझाया है कि आप कैसे इसका प्रयोग अलग-अलग क्षेत्रों में कर सकते हैं। व्हाट्सएप ने कोरोना वायरस के लिए एक अलग से पेज बनाकर इस बारे में जानकारी जाहिर की है। इस एप्प की अहमियत को बताने कि लिए कुछ खबरें इस विशेष पेज पर शेयर की हैं। व्हाट्सएप का दावा है कि इटली, जो कि इस समय दुनिया में सबसे ज्यादा प्रभावित है, के सभी शहरों के 243 मेयरों ने एक ग्रुप बनाया हुआ है और उसके माध्यम से सूचनाओं का आदान प्रदान कर रहे हैं। ये ग्रुप 21 फरवरी को ही बना लिया गया था। इसमें रोजाना पॉजिटिव मिल रहे लोगों की जानकारी तुरंत शेयर की जाती है। 

 

भारत में अब हुआ सदुपयोग
भारत में व्हाट्सएप को अब तक केवल फेक न्यूज के प्रसार का माध्यम ही माना जाता रहा है लेकिन कोरोना संकट के दौर में ये सूचना के आदान प्रदान का एक बड़ा माध्यम बना है। पिछले दिनों वाराणसी के लोगों से वीडियो कांफ्रेंस के जरिए बात करते समय पीएम मोदी ने भी एक व्हाट्सएप नंबर (9013151515) दिया था। उसे कोरोना हेल्पडेस्क से जोड़ा गया है। इसके अलावा प्रदेशों के डीएम व एसएसपी भी व्हाट्स एप्प के माध्यम से सारी सूचनाएं ले रहे हैं। कालाबाजारी रोकने में तो इसका बहुत ही बढिया प्रयोग भारत में हो रहा है। व्हाट्सएप ने अपने पेज पर कोयम्बटूर की एक घटना का जिक्र भी किया है। इसमें बताया गया है कि वहां की कलेक्टर एस मलरविझी ने अपने मातहत सभी अधिकारियों की मीटिंग व्हाट्सएप के माध्यम से ली। 


vasudha

Related News