उन्नाव की बहादुर बेटी हारी जिंदगी की जंग, आखिरी शब्द थे, भाई मुझे बचा लेना मरना नहीं चाहती (VIDEO)

2019-12-07T11:57:27.063

नई दिल्ली: उन्नाव गैंगरेप की पीड़िता का दिल्ली के सफदरजंग हॉस्पिटल में निधन हो गया है। पीड़िता को एयरलिफ्ट करके लखनऊ से दिल्ली लाया गया था। पीड़िता का शरीर 90 फीसदी जल चुका था। सफदरजंग हॉस्पिटल के प्रवक्ता ने उन्नाव रेप पीड़िता के निधन की पुष्टि की है। ये उसकी बहादुरी और साहस ही थी कि जब आरोपियों ने उसे जलाया था तब वह उसी हालत में करीब 1 किमी तक दौड़ती रही।  जली हुई अवस्था में ही वह भागी जा रही थी और बचाओ-बचाओ चिल्ला रही थी। वह आग के लपटों की पूरी तरह चपेट में थी बावजूद उसने जीने की इच्छा नहीं छोड़ी और मरते दम तक भाई को कहती रही मुझे बचा लेना। मैं मरना नहीं चाहती। उसने आखिरी तक अपने परिजनों से कहा कि आरोपियों को मत छोडऩा।  


Edited By

Anil dev

Related News